च खेल के जूते

च खेल के जूते

time:2021-10-26 21:06:40 फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये Views:4591

188bet एपीके च खेल के जूते betway आधिकारिक वेबसाइट,लीवगैस जमा बोनस,lovebet 90,lovebet किलविनिंग,lovebet यूएसए,6+ पोकरस्टार,बैकरेट गणना विधि,बैकरेट रोड लिस्ट डाउनलोड,बेस्ट स्ट्रेच फाइव जंपशॉट 2k21,नकद शतरंज आधिकारिक वेबसाइट,कैसीनो ग्रह बोनस कोड,शतरंज तुम कैसी हो,क्रिकेट एस्पन,डे स्पोर्ट्स स्कूल,यूरोपीय कप लाइव,फुटबॉल के मैदान की लंबाई,किताब का खेल क्रिकेट हैकरअर्थ,किसान दिवस की शुभकामनाएं कब है,इंडीबेट कतर,जैकपॉट खेल उपहार और मनोरंजन पोकर चिप्स,छोटी क्रिकेट किताब,लाइव रूले ग्रीस,लॉटरी की कीमत,एमबीए फुटबॉल उद्योग,ऑनलाइन कैसीनो जैक,हांगकांग और ताइवान से ऑनलाइन लाइव प्रसारण,ऑनलाइन स्लॉट असली पैसा जीतते हैं,पोकर एनीमे,पूल रम्मी व्यायाम,रूले याकूब किवामी,रमी मोबाइल मराठी,sh.lovebet.de लॉगिन,स्लॉट रियल मनी ऐप,खेल गांव,तीन पत्ती ट्रिक्स,सबसे प्रतिष्ठित मनोरंजन मंच,वॉलीबॉल नियम,विश्व कप फुटबॉल मैच का समय,असली पैसे का खेल netflix,कैटरीना यादव,खेलो पर जुआ ka,जोकर डे पैनल चार्ट,फुटबॉल इंडियन सुपर लीग,बेटा ऑफिस,लाटरी पंजाब,स्टेटस हिंदी ज़िन्दगी, .फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.
नई दिल्ली: फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से मैच्योरिटी, पूर्व भुगतान और कूपन भुगतान से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इसके लिए डेट बाजार में लिक्विडिटी की कमी तथा लोगों द्वारा निकासी के दबाव का हवाला दिया गया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.

ये योजनाएं 'फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनेमिक एक्यूरल फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड, फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान, फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपर्चुनिटीज फंड' हैं.

इसे भी पढ़ें: इनकम टैक्स भरने के लिए जारी हुआ नया आईटीआर फॉर्म, जानिए क्या हैं बदलाव

कंपनी ने अपने बयान में कहा, "छह योजनाओं को 31 मार्च, 2021 तक कुल 15,776 करोड़ रुपये का नकदी मिली है." इस साल 31 मार्च को समाप्त हुए पखवाड़े में इन योजनाओं को 505 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने कहा कि फ्रैंकलिन इंडिया इनकम ऑपर्चुनिटीज फंड ने अपने सभी बकाया उधारी को चुका दिया है. इस तरह अब सभी छह योजनाएं नकदी के हिसाब से सकारात्मक हो गई हैं और इनके पास 1,370 करोड़ रुपये का फंड बचा हुआ है.




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

फ्रैंकलिन टेंमपलटन म्यूचुअल फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट म्यूचुअल फंडसेबीशेयर बाजारफ्रैंकलिन टेंमपलटनम्यूचुअल फंड्सफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन की बंद स्कीमें

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

फ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.हम सीनियर सिटीजन के लिए निवेश के पांच ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे उनकी मेहनत की कमाई पर अच्छी नियमित आय आती रहे.क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
बैकरेट शतरंज

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

होटल कैसीनो कोचीन

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.

लाइव रूले फिक्स्ड

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

स्पोर्ट्स ई बाइक

साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.

lovebet तंजानिया APK

हम सीनियर सिटीजन के लिए निवेश के पांच ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे उनकी मेहनत की कमाई पर अच्छी नियमित आय आती रहे.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी