lottery रिजल्ट

lottery रिजल्ट

time:2021-10-21 12:50:18 मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं? Views:4591

फुटबॉल के लिए किस मानक की सिफारिश की जाती है lottery रिजल्ट betway केविन पीटरसन,लियोवेगैस सहबद्ध,lovebet 66/1 स्टर्लिंग,lovebet जॉब,lovebet यू क्रोनोज गोरी,365 नए फुटबॉल सट्टेबाजी नेविगेशन,उच्च जीत दर के साथ बैकरेट सट्टेबाजी विधि,बैकारेट मनोवैज्ञानिक रणनीति,एमपी बोर्ड 2021 में बेस्ट ऑफ फाइव रूल,नकद शतरंज और कार्ड गेम के लिए आदान-प्रदान किया जा सकता है,कैसीनो या कैसीनो,ढलाई में इस्तेमाल होने वाला शतरंज का टुकड़ा,क्रिकेट क्रिकबज,डी शतरंज संकेतन,यूरोपीय कप फुटबॉल मैच आज रात,फ़ुटबॉल क्रेडिट URL,बिक्री के लिए जुआ मशीनें,हैप्पी किसान रेस्टोरेंट,भारतीय खुश किसान,जैकपॉट मुफ्त गेम ऑनलाइन,नवीनतम फुटबॉल परिणाम,लाइव रूले अटलांटिक सिटी,लॉटरी नंबर 0066,एम.लवबेट1,ऑनलाइन कैसीनो मुफ्त पैसा,ऑनलाइन गेम ज़ूमा डीलक्स,ऑनलाइन स्लॉट उसी दिन पेआउट,पोकर 7 कार्ड स्टड,पोकर्कोको,रूले टिप्स और ट्रिक्स,रम्मी जोकर नियम,शुमान खुश किसान youtube,स्लॉट एन स्टफ यूट्यूब नकली,खेल टेनिस,तीन पत्ती पैसा,सबसे आधिकारिक गेमिंग कंपनी,आभासी क्रिकेट सिडनी,विलो हैडली क्रिकेट बुक 3,y क्रिकेट,कैटरीना इंटरव्यू,खेल लॉटरी online,जोकर इमेजेस,पोकर बसादी,बेटा आई लव यू,रेलवे स्पोर्ट्स कोटा भर्ती 2021,स्टेटस राजनीति, .मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.
कई निवेशक अपने निवेश को लेकर आश्वस्त नहीं रहते हैं. उनके मन में कई सवाल चलते रहते हैं. मसलन-क्या उन्होंने सही जगह निवेश किया है? क्या उनका पोर्टफोलियो सही दिशा में बढ़ रहा है? ईटी के पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशक के पोर्टफोलियो के स्वास्थ्य का निरीक्षण कर सही सलाह देते हैं.

पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशकों की स्कीम का विश्लेषण करते हैं. उसके बाद बताते हैं कि क्या ये स्कीमें उनके लक्ष्य तक पहुंचने में उनकी मदद कर सकती हैं या नहीं. जरूरत पड़ने पर वे सही उपचार भी बताते हैं. उनकी सलाह फंड्स के प्रदर्शन, निवेशक की जोखिम क्षमता और वित्तीय लक्ष्य पर आधारित होती है.

केस 1 : आदित्य सेन बेटे के लक्ष्‍यों के साथ अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. वह अपने रिटायरमेंट के लिए 19 साल में 1.24 करोड़ रुपये जुटा लेना चाहते हैं. आइए, देखते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

इसे भी पढ़ें : कैसा है फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

लक्ष्य
master

निवेश पोर्टफोलियो
master1

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 1-2 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- चुनी गई सभी स्‍कीमें अच्छी हैं. लेकिन, निवेश बढ़ाने की जरूरत है.
- लक्ष्‍यों तक पहुंचने के लिए हर साल सिप की रकम 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- फंडों के अलावा हर महीने शेयरों में भी सीधे निवेश करें.
- इंश्‍योरेंस प्‍लान और चाइल्‍ड यूलिप भी होल्ड करें.
- सेविंग बैंक में काफी पैसा यूं ही पड़ा है. रेकरिंग डिपॉजिट से रिटर्न पूरी तरह टैक्सेबल है.

डॉक्टर का नोट
- इंश्‍योरेंस पॉलिसी में निवेश नहीं करें. रिटर्न बहुत कम हैं.
- रेकरिंग डिपॉजिट पूरी तरह टैक्सेबल हैं. बजाय इसके डेट फंडों को चुनें.
- यूलिप खरीदते वक्त प्रमुख लक्ष्‍यों के साथ मैच्‍योरिटी को अलाइन करें.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इसे भी पढ़ें : इन 7 कारणों से पीपीएफ है सबसे पसंदीदा टैक्‍स सेविंग विकल्‍पों में से एक

केस 2 : दीपक सिरोही बच्‍चे की शिक्षा और अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. आइए, जानते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

लक्ष्य
master2

निवेशक का पोर्टफोलियो
master3

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 2-3 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- लक्ष्य महत्वाकांक्षी हैं और मासिक निवेश में बड़ी बढ़ोतरी की जरूरत होगी.
- सिप की भी रकम हर साल 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य करीब आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इस कैलकुलेशन में माना गया है कि
- शिक्षा खर्च हर साल 10 फीसदी बढ़ेगा.
- अन्य लक्ष्यों के लिए महंगाई दर को 7 फीसदी रखा गया है.

रिटर्न
- इक्विटी से रिटर्न को 12 फीसदी रखा गया है.
- डेट से रिटर्न को 8 फीसदी रखा गया है.

इन पोर्टफोलियो की समीक्षा माईमनी मंत्रा के एमडी और संस्‍थापक राज खोसला ने की है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

RETIREMENT PLANNINGरिटायरमेंट प्‍लानिंगबच्‍चों के लक्ष्‍यप्‍लानिंगरिटायरमेंटनिवेश पोर्टफोलियोपोर्टफोलियो डॉक्‍टर

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.नियमित आमदनी के लिए इन पांच विकल्प में निवेश कर सकते हैं सीनियर सिटीजन

सामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.लगातार अच्‍छा रिटर्न चाहते है? इस फंड में लगा सकते हैं पैसा

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.म्यूचुअल फंडों का एयूएम 41% बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये पहुंचा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्पोर्ट्स यूट्यूब चैनल का नाम विचार

एक साल पहले इस फंड के अनुभवी मैनेजर ने इस्तीफा दिया. हालांकि, स्‍कीम की बागडोर मजबूत प्रबंधन के हाथों में है. निवेश के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है.

गोवा लॉकडाउन

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.

बैकारेट जेम्स बॉन्ड

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

lovebet 2 4 सिस्टम

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

कैसीनो क्षेत्र के दिन

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी