शतरंज अगर मोहरा खोलना

Publishing time:2021-10-18 16:13:11

वाइल्डज़ बोनस कोड फ्री स्पिन 2021 शतरंज अगर मोहरा खोलना 188bet खो,casumo यूके लॉगिन,lovebet 11,lovebet एस्पोर्ट्स,lovebet क्विक्सास,lovebet-आ,बैकारेट 007,बैकारेट पंप नहीं है,बैकारेट के लिखने का तरीका,बेटिंग व्हाट्सएप ग्रुप लिंक,कैसीनो ड्राइव ब्रॉडबीच,टेक्सास में कैसीनो,क्रिकबज,क्रिकेट उद्धरण अंग्रेजी में,एस्पोर्ट्स हेडफोन ए1,फिशिंग रशफोर्ड लेक एनवाई,फुटबॉल टी-शर्ट ऑनलाइन दुकान,ग्लोबल रियल मनी ड्रैगन टाइगर,कैसे खोलें,आईपीएल जोमैटो,जंगल रम्मी मुफ्त डाउनलोड,गोवा में लाइव कैसीनो,लॉटरी बीसी,लूडो आईडी,o फुटबॉल की भविष्यवाणी आज और आज रात,ऑनलाइन गेम बोर्ड मेकर,ऑनलाइन पोकर एक्सबॉक्स,परिमच यूके रिव्यू,पोकर ऑनलाइन qq ceme,री कैसीनो टिवर्टन,नियम शून्य उत्पाद,रम्मीकल्चर नकली,स्लॉट मशीन विकिपीडिया,स्पोर्ट्स दा रोडडा,स्पोर्ट्सबुक्स,टेक्सस होल्डम यूडा गेम्स,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल गोल्डन बूट्स क्रिस्टियानो रोनाल्डो,किस सट्टेबाज को छूट है,21 बजे dj,ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए video,क्रिकेट इमेज,गोवा भाषा,तीन पत्ती प्रो,बकरी ऑनलाइन,बैकारेट quotes,स्टेटस अच्छा वाला, .क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

हाल में कई फंड ऑफ फंड्स (एफओएफ) लॉन्‍च हुए हैं. इस तरह निवेशकों के पास चुनने के लिए विकल्पों की कमी नहीं है.
हाल में कई फंड ऑफ फंड्स (एफओएफ) लॉन्‍च हुए हैं. इस तरह निवेशकों के पास चुनने के लिए विकल्पों की कमी नहीं है. हालांकि, एक बात हर निवेशक को ध्‍यान रखने की जरूरत है. चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है. इसका मतलब है कि निवेशकों को ओरिजनल स्‍कीम के साथ ही एफओएफ के एक्सपेंस रेशियो का भार भी उठाना पड़ सकता है.

इस बात को उदाहरण से समझते हैं. मान लेते कि निवेशक हाल में लॉन्‍च निप्‍पॉन इंडिया एसेट अलोकेट एफओएफ में निवेश करते हैं. इस मामले में उन्‍हें एफओएफ का एक्‍सपेंस रेशियो 0.19 फीसदी उठाना पड़ेगा. साथ ही वह एफओएफ जिन स्‍कीमों में निवेश करेगा, उनके वेटेड एवरेज एक्‍सपेंस रेशियो का भार भी निवेशकों पर आएगा. इस मामले में तीन स्‍कीमें हैं, निप्‍पॉन इंडिया स्‍मॉलकैप फंड (1.06%), निप्पॉन इंडिया ग्रोथ फंड (1.26%) और निप्पॉन इंडिया लॉर्जकैप फंड (1.18%).

आपको एफओएफ रूट का इस्‍तेमाल सिर्फ तभी करना चाहिए अगर अतिरिक्‍त कॉस्‍ट उचित है. आइए, जानते हैं कि इस फैसले तक पहुंचने में आपको किन बातों का ध्‍यान रखना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

आपके रिटर्न प्रोफाइल में फिट हो स्‍कीम
प्राइमरी स्‍कीम यानी घरेलू म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम का उपलब्‍ध न होना एफओएफ रूट लेने का एक कारण हो सकता है. इससे भी अधिक महत्वपूर्ण यह है कि इस नई स्‍कीम को आपके पोर्टफोलियो प्रोफाइल में फिट होना चाहिए.

क्रेडेरे वेल्‍थ पार्टनर्स में प्रोडक्‍ट और रिसर्च के हेड अरुण गोपालन कहते हैं, ''निवेशकों को जिस स्‍कीम में निवेश किया जा रहा है, उसे देखना चाहिए. साथ ही यह भी पता लगाना चाहिए कि उससे क्‍या मकसद हल हो रहा है.''

एलआरएस के जरिये सीधे निवेश करने में क्‍या दिक्‍कत है?
आप पूछ सकते हैं कि लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्‍कीम (एलआरएस) का इस्तेमाल करते हुए सीधे विदेशी शेयरों में क्‍यों निवेश नहीं किया जा सकता है. यह बिल्‍कुल सही है कि आप सीधे निवेश कर सकते हैं. लेकिन, उसके लिए आपको काफी विशेषज्ञता की जरूरत होगी. इस बात को ध्‍यान रखना चाहिए कि भारतीय फंड हाउस सीधे इंटरनेशनल सेगमेंट में सिर्फ इसलिए नहीं हाथ आजमा रहे हैं क्योंकि उनके पास यहां निवेश करने की कुशलता नहीं है.

इसे भी पढ़ें : मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

आप इंटरनेशनल फंडों या एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड में निवेश कर काफी हद तक विशेषज्ञता के मसले को हल कर सकते हैं. हालांकि, यह एक और परेशानी खड़ी करेगा. वह है एलआरएस व्यवस्था के तहत रिपोर्ट‍िंग की.

हाल में लॉन्‍च हुए एफओएफ
master

जहां एफओएफ रूट का इस्‍तेमाल ग्‍लोबल डायवर्सिफिकेशन के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है. वहीं, अच्‍छा होगा कि घरेलू थीम के लिए इससे बचा जाए.

घरेलू एफओएफ की उपयोगिता कम
बात जब घरेलू परिदृश्य की आती है तो एफओएफ की उपयोगिता घट जाती है. हाल में लॉन्‍च कई एफओएफ अपने ही ईटीएफ में पैसा लगाएंगे. इस मामले में वैल्यू एडिशन कम है. कारण है कि निवेशक सेकेंडरी मार्केट से प्राइमरी ईटीएफ सीधे खरीद सकते हैं. हालांकि, यह निवेशकों के एक धड़े के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

प्‍लान अहेड वेल्थ एडवाइजर्स के सीईओ विशाल धवन कहते हैं कि जिन म्‍यूचुअल फंड निवेशकों के पास डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट नहीं है, उनके लिए ईटीएफ में एफओएफ निवेश उपयोगी होगा.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

फंड ऑफ फंड्सएफओएफम्‍यूचुअल फंडरिटर्न प्रोफाइलएक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS
Fintech

Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS

10 mins read
Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.
Auto

Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.

12 mins read
क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

क्या आप यह जानते हैं कि आपके कार या बाइक में डलने वाले पेट्रोल का भाव अब हवाई जहाज के ईंधन की तरह इस्तेमाल होने वाले एविएशन टर्बाइन क्यूल या एटीएफ (ATF) से ज्यादा महंगा हो गया है।सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.सुपर साइकिल का ऐसे उठाएं फायदा, इन कमोडिटीज पर लगाएं दांव

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) टाटा मोटर्स ने भारतीय बाजार में सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी पंच को उतार दिया है। इसकी शोरूम कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू होती है। कंपनी ने कहा कि इस मॉडल को टाटा मोटर्स के भारत, ब्रिटेन और इटली के स्टूडियो में डिजाइन किया गया है। यह एक पूरी तरह नयी श्रेणी.... सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी है। कंपनी के उत्पादों में यह मॉडल नेक्सन से नीचे की श्रेणी का है। इसमें 1.2 लीटर का पेट्रोल इंजन है। यह मॉडल मैनुअल और ऑटोमैटिक दोनों में उपलब्ध होगा। टाटा मोटर्स ने दावा किया कि इस मॉडल का मैनुअल ट्रिमनयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों के दाम इस कदर बढ़ा दिए गए हैं कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किल हो गया है। उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘वादा किया था कि हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज से सफर करेंगे। लेकिन भाजपा सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम इतने बढ़ा दिए कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किलअब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किल हो गया: प्रियंका

September job status: देश के 8 राज्यों में बेरोजगारी की दर सितंबर में 2 अंकों में पहुंच गई है।सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.Job Offer: उत्तर भारत में बढ़ती बेरोजगारी के आंकड़े क्या संकेत दे रहे हैं?

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


बेटा बुलाए
लूडो टैलेंट मॉड एपीके
स्टेटस ऑनलाइन
बैकारेट वेबसाइट क्या है
शतरंज एक संगीत
भारत में ऑनलाइन लॉटरी टिकट मुफ्त
क्रिकेट धोनी
लॉटरी 9/7/2021
लॉटरी गेम
पोकर गर्मी
मछली पकड़ने की भीड़ झील उटाह
chess फोटो
लूडो सुप्रीम गोल्ड APK
रमी मॉडर्न एप्प डाउनलोड
एमबीए क्रिकेट
ek Patti से
बेटा घर पर
फुटबॉल के साढ़े छह मैच
लियोवेगास बिंगो
पोकर हिंदी अर्थ
बैकारेट जुआ का रहस्य
बेटा दिवस कब है
क्लासिक रम्मी खेल नियम
मराठी में खेल की जानकारी
पशु कार्निवाल
बरसात ना समाचार
betway केन्या जैकपॉट