रम्मी वेरिएंट वीडियो डाउनलोड

रम्मी वेरिएंट वीडियो डाउनलोड

time:2021-10-18 18:06:54 लगातार अच्‍छा रिटर्न चाहते है? इस फंड में लगा सकते हैं पैसा Views:4591

lovebet एस/पी रम्मी वेरिएंट वीडियो डाउनलोड betway जमा बोनस,fun88 नया ग्राहक ऑफर,lovebet 4.5/5,lovebet हिल,lovebet टा फोरा दो अरे,1xbet लाइव कैसीनो,शामिल होने के लिए बैकरेट एजेंट,बैकारेट वन पीस एज,सबसे अच्छा लाइव लाठी ऐप,किताब क्रिकेट जाल,कैसीनो काटजा,शतरंज एक खेल,क्रिकेट बुक कवर,क्रिकेट x,यूरोपीय सट्टेबाजी कंपनियां,फुटबॉल बी गैप,जी शतरंज,खुश किसान फेसबुक,मैं कैसीनो परिभाषा,जे स्लॉट,ला शतरंज बार,लाइव कैसीनो युद्ध,लॉटरी का खेल दिखाओ,लूडो विंज़ो,ऑनलाइन नकद सट्टेबाजी नेटवर्क,ऑनलाइन गेम पोकी,दक्षिण अफ्रीका में ऑनलाइन स्लॉट,बिंदु प्रणाली जिन रम्मी,पोकर युद्ध हमें,रूले ऑनलाइन रहते हैं,रम्मी सर्कल मोबाइल,रम्मीकल्चर श्याओमी,स्लॉट्स एम्पायर नो डिपॉजिट बोनस कोड 2021,खेल समाचार लाइव,तीन पत्ती ड्रैगन टाइगर,सबसे गर्म ऑनलाइन बोर्ड गेम,आभासी किताब क्रिकेट,वाइल्डज़ बोनसकुडी,da लॉटरी संगबाद,करीना चार्ट,क्रिकेट भाव,चेहरे का बदलाव २,परिवार quote,बरसात बॉबी देओल की,रमी फोटो,स्टेटस थॉट, .लगातार अच्‍छा रिटर्न चाहते है? इस फंड में लगा सकते हैं पैसा

कम अस्थिरता वाले शेयरों का अच्छा करने की एक मुख्य वजह गिरावट को थामना है.
क्‍या लार्जकैप सेगमेंट से कम अस्थिर शेयर चुनकर लंबी अवधि में ज्यादा फायदा उठाया जा सकता है? आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल निफ्टी 100 लो वोलेटिलिटी 30 ईटीएफ एफओएफ के निवेश का यही आधार है. यह 2017 में लॉन्‍च ईटीएफ पर आधारित है. आइए, जानते हैं कि क्‍या इस तरह की रणनीति में वाकई कोई दम है.

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है. इसने निवेशकों को मायूस किया है. कई निवेशकों ने कम लागत वाले इंडेक्‍स फंडों का रुख कर लिया है.

हालांकि, सीधे-सादे इंडेक्स फंड भी बाजार की रोजमर्रा की अस्थिरता से अछूते नहीं हैं. ज्यादा स्टेबल रिटर्न की चाहत रखने वाले निवेशकों के पास एक रास्ता है. वह है कम से कम अस्थिर शेयरों में चुनिंदा तरीके से निवेश करने का.

इसे भी पढ़ें : लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी?

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल निफ्टी 100 लो वोलेटिलिटी 30 ईटीएफ एफओएफ इस तरह की पेशकश करता है. इसका पोर्टफोलियो 100 टॉप कंपनियों में से 30 सबसे कम अस्थिर शेयरों से बना है.

यह फंड दूसरे इंडेक्‍स फंडों से कितना अलग है? कम अस्थिरता पर जोर के साथ इसके इंडेक्‍स में वजन के लिहाज से 3 टॉप सेक्‍टर शामिल हैं. इनमें कंज्यूमर गुड्स, आईटी और ऑटोमोबाइल्‍स हैं. पारंपरिक तौर पर ये डिफेंसिव सेक्टर हैं.

एनबीएफसी के साथ बैंकिंग शेयर निफ्टी100 लो वोलेटिलिटी 30 इंडेक्‍स का महज 8.6 फीसदी हैं. इस इंडेक्‍स के टॉप शेयरों में पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, डाबर इंडिया, अल्ट्राटेक सीमेंट, इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन और बजाज ऑटो प्रमुख हैं. न केवल इंडेक्‍स कम अस्थिरता वाला है बल्कि इसका वैल्यूएशन प्रोफाइल भी कम है.

इसे भी पढ़ें : मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

ये सभी बातें इसके पक्ष में जाती हैं. लेकिन, क्‍या ये अच्‍छे प्रदर्शन की वजह बनेंगी? कारण है कि कम अस्थिरता या कम जोखिम को कम रिटर्न के साथ जोड़कर देखा जाता है. 2008 से लो वोलेटिलिटी इंडेक्‍स ने 13 में से 8 कैलेंडर वर्ष में प्रमुख सूचकांकों से बेहतर प्रदर्शन किया है. यह उस धारणा के उलट है जो कहती है कि कम जोखिम माने कम रिटर्न है.

master

कम अस्थिरता वाले शेयरों का अच्छा करने की एक मुख्य वजह गिरावट को थामना है. ओमनीसाइंस कैपिटल के सीईओ और चीफ इंवेस्‍टमेंट स्ट्रैटेजिस्ट विकास गुप्ता ने कहा, ''कम अस्थिरता एक तरह का नतीजा है. यह कंपनियों की मजबूत बुनियादी बातों के कारण हो सकता है. ये अनुमान योग्‍य ग्रोथ की पेशकश करती हैं. इनका फायदा स्‍पष्‍ट दिखाता है.''

कोई शेयर जितना ज्यादा गिरता है, उसे वापस अपने स्‍तर पर आने में उतना ही फायदा कमाने की जरूरत पड़ती है. अगर कोई शेयर 50 फीसदी टूटता है तो वापसी के लिए उसे 100 फीसदी चढ़ना होगा. कम गिरावट वाले शेयर को वापसी के लिए लंबी छलांग लगाने की जरूरत नहीं पड़ती है. हालांकि, कम अस्थिरता हमेशा अच्छा नहीं करती है. हर फैक्‍टर का अपना सीजन होता है. फैक्‍टर की टाइमिंग का सही अनुमान लगा पाना मुश्किल है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

रिटर्नस्थिर शेयरों में पैसा लगाने वाले फंडइंडेक्स फंडएफओएफलार्ज कैप म्‍यूचुअल फंडआईसीआईसीआई प्रू निफ्टी 100 लो वोलेटिलिटी 30 ईटीएफ

ETPrime stories of the day

How DealShare’s multitasking community leaders can help it build a Meesho for grocery beyond metros
Digital economy

How DealShare’s multitasking community leaders can help it build a Meesho for grocery beyond metros

12 mins read
PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business
Markets

Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business

8 mins read

मुंबई, 18 अक्टूबर (भाषा) अन्य मुद्राओं की तुलना में डॉलर में मजबूती के बीच सोमवार को शुरुआती कारोबार में रुपया दो पैसे के नुकसान के साथ 75.28 प्रति डॉलर पर खुला। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया शुरुआती कारोबार में 75.26 से 75.29 प्रति डॉलर के दायरे में रहा। बृहस्पतिवार को रुपया 75.26 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। शुक्रवार को दशहरा के अवसर पर फॉरेक्स बाजार बंद था। इस बीच, छह मुद्राओं की तुलना में डॉलर का रुख दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.17 प्रतिशत की बढ़त के साथ 94.09 पर पहुंच गया।नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) फ्रैंकलिन टेंपलटन ने अपनी इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत की टीम को मजबूत करते हुए अजय अर्गल और वेंकटेश संजीवी को पोर्टफोलियो प्रबंधक नियुक्त किया है। कंपनी ने सोमवार को बयान में कहा कि अर्गल और संजीवी 12 अक्टूबर से पोर्टफोलियो प्रबंधक के रूप में टीम में शामिल हो गए हैं। दोनों चेन्नई में काम संभाल रहे हैं और वे इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत टीम के प्रमुख आनंद राधाकृष्णन को रिपोर्ट करेंगे। अर्गल फ्रैंकलिन इंडिया फोकस्ड इक्विटी कोष और फ्रैंकलिन बिल्ड इंडिया फंड के पोर्टफोलियो प्रबंधक होंगे। संजीवी फ्रैंकलिन इंडिया ब्लूचिप फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेजशुरुआती कारोबार में रुपया स्थिर रुख के साथ खुला

हम सीनियर सिटीजन के लिए निवेश के पांच ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे उनकी मेहनत की कमाई पर अच्छी नियमित आय आती रहे.वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.Power Crisis: देश भर में भारी बारिश ने गिराए बिजली के भाव, एनर्जी एक्सचेंज में रुपये यूनिट पर पहुंची बिजली

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.त्योहारी सीजन के दौरान विपणन अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी पेटीएम

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
विश्वसनीयता फुटबॉल नेट

भुवनेश्वर, 17 अक्टूबर (भाषा) ओडिशा में खनिज क्षेत्र से राजस्व संग्रह अप्रैल-सितंबर के दौरान 221 प्रतिशत बढ़कर 18,841 करोड़ रुपये से अधिक हो गया, जो चालू वित्त वर्ष के लिए इस क्षेत्र के बजटीय अनुमान से अधिक है। इस क्षेत्र से एक साल पहले की समान अवधि में 5,870.74 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल किया गया था। राज्य में वित्त विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बजट अनुमान के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 में खनिज राजस्व के रूप में 13,700 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद थी, लेकिन ओडिशा ने काफी पहले ही 30 सितंबर तक 18,841.54 करोड़ रुपये जुटा

फुटबॉल विश्लेषण और संभावनाएं

मारुति (Maruti Suzuki) और टोयोटा (Toyota) की पार्टनरिशप के तहत लॉन्च किया गया पहला वाहन Toyota Glanza है।यह कार मारुति सुजुकी की प्रीमियम हैचबैक Baleno पर बेस्ड है।

स्लॉट 45 एसएलवी

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) फ्रैंकलिन टेंपलटन ने अपनी इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत की टीम को मजबूत करते हुए अजय अर्गल और वेंकटेश संजीवी को पोर्टफोलियो प्रबंधक नियुक्त किया है। कंपनी ने सोमवार को बयान में कहा कि अर्गल और संजीवी 12 अक्टूबर से पोर्टफोलियो प्रबंधक के रूप में टीम में शामिल हो गए हैं। दोनों चेन्नई में काम संभाल रहे हैं और वे इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत टीम के प्रमुख आनंद राधाकृष्णन को रिपोर्ट करेंगे। अर्गल फ्रैंकलिन इंडिया फोकस्ड इक्विटी कोष और फ्रैंकलिन बिल्ड इंडिया फंड के पोर्टफोलियो प्रबंधक होंगे। संजीवी फ्रैंकलिन इंडिया ब्लूचिप फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज

leovegas यूट्यूब

मारुति (Maruti Suzuki) और टोयोटा (Toyota) की पार्टनरिशप के तहत लॉन्च किया गया पहला वाहन Toyota Glanza है।यह कार मारुति सुजुकी की प्रीमियम हैचबैक Baleno पर बेस्ड है।

तीन पत्ती रानी

(हरिंदर मिश्रा) यरूशलम, 17 अक्टूबर (भाषा) विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को इजराइल को भारत के ‘‘सबसे भरोसेमंद और नवोन्मेषी साझेदारों’’ में से एक बताया। इसके साथ ही उन्होंने रक्षा क्षेत्र सहित इजराइल के कारोबारियों से देश में निवेश करने और इसकी व्यापार-अनुकूल नीतियों का लाभ उठाने का आग्रह किया। जयशंकर ने अपनी पहली यात्रा पर यहां पहुंचने के तुरंत बाद भारत-इजराइल व्यापार गोलमेज सम्मेलन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यभार संभालने के बाद से भारत में बदलाव का एक बड़ा प्रयास हो रहा है और लोगों ने उस बदलाव के बारे में सुना है। उन्होंने कहा, ‘‘यदि

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी