क्रिकेटर पत्रिका

क्रिकेटर पत्रिका

time:2021-10-18 17:58:03 डॉ रेड्डीज लैब के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक? Views:4591

जंगली रमी डाउनलोड क्रिकेटर पत्रिका betway जॉइन,fun88 विकिपीडिया,lovebet 6 बॉल आयरिश लॉटरी,lovebet जे लीग,lovebet टॉप10बुकी,365 बोर्ड गेम,बैकारेट बार nyc,बैकारेट व्यावहारिक व्याख्या,फ़्रेडी के पाँच रातों में सर्वश्रेष्ठ,सी पोकर,कैसीनो ना प्रौद्ज़िवे पीनिडज़े,शतरंज की चाल जीत,मराठी में क्रिकेट चा इतिहास,क्रिकेटरों का नाम,यूरोपीय कप फुटबॉल फाइनल स्कोर,फुटबॉल नकद ऑनलाइन सट्टेबाजी,असली पैसे के लिए जुआ ऑनलाइन,वायलिन पर खुश किसान,इंडिया बेस्ट मोबाइल,जैकपॉट सिटी हॉट गेम्स,नवीनतम बेटिंग ऑफर,लाइव मिनी गेम्स,लॉटरी एन वाई परिणाम,एम.बकारत 99वें,ऑनलाइन कैसीनो वितरण,डाउनलोड के बिना ऑनलाइन गेम,ऑनलाइन स्लॉट असली पैसे के लिए खेलते हैं,पोकर 5 अक्षर का शब्द,पोकर ज़िपो लाइटर,रूले रॉयल मॉड APK,रम्मी हो APK,सबा खाता खोलना,स्लॉट लॉबी मॉड l4d2,पुरुषों के लिए खेल के जूते,तीन पत्ती मोड APK,लवबेट कप,आभासी क्रिकेट जाल,विलियम हिल एंटरटेनमेंट,rummy मतलब,कल्याण का चार्ट,खेल प्रतियोगिता,जैकपॉट विधि क्या है,पोकर गेम वीडियो,बारात लेके,रीना नाम की रिंगटोन,स्टेटस मराठी attitude, .डॉ रेड्डीज लैब के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

42 में से 36 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. वहीं, 5 ने इसे होल्‍ड करने की राय दी है.
डॉ रेड्डीज लैब (डीआरएल) ने वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में ठीक ठाक नतीजे दर्ज किए हैं. सालाना आधार पर इसके कुल रेवेन्‍यू में 12 फीसदी का इजाफा हुआ है. इस दौरान घरेलू रेवेन्‍यू में 26 फीसदी, अमेरिकी रेवेन्‍यू में 9 फीसदी और यूरोपीय रेवेन्‍यू में 34 फीसदी की बढ़ोतरी हुई. हालांकि, ये आंकड़े बाजार की उम्मीदों से कम थे. हाल में इस शेयर की कीमतों में गिरावट आने का यही कारण था. विश्लेषक कहते हैं कि कीमत में यह कमी इस शेयर में एंट्री का मौका देती है.

छोटी अवधि में ऐसी कई बातें हैं जो डॉ रेड्डीज के शेयरों को बल दे सकती हैं. इसके चलते भी विश्लेषकों की इस शेयर में दिलचस्पी बढ़ी है. कंपनी ने रूस की कोविड वैक्सीन स्पुतनिक का लाइसेंस प्राप्त किया है. यह मंजूरी का इंतजार कर रही है. नियामक संबंधी प्रकिया पूरी होने में समय लगता है. लेकिन, विश्लेषकों को इसके सकारात्मक नतीजे मिलने की उम्‍मीद है. कारण है कि इसी टेक्नोलॉजी पर आधारित दूसरी वैक्‍सीनों ने क्‍लीनिकल टेस्‍ट में अच्‍छे नतीजे दिखाए हैं.

इसे भी पढ़ें : मुझे रिटायरमेंट के लिए 21 साल में 1 करोड़ रुपये जुटाना है, कैसे प्‍लान बनाऊं?

एक बार मंजूरी मिलने के बाद कंपनी की योजना भारत के साथ अन्‍य देशों में इसकी मार्केटिंग करने की है. यह काम सरकार और प्राइवेट वैक्‍सीन प्रोग्राम के तहत किया जाएगा. रूस और कॉमनवेल्थ देशों में बाजार के समीकरण भारत जैसे हैं. यहां ब्रांडेड और ओटीसी दवाओं पर फोकस बढ़ा है. इस दिशा में पहले कदम बढ़ा देने से डॉ रेड्डीज को पहले ही फायदा मिला है. स्पुतनिक के निर्यात से कंपनी को और फायदा हो सकता है.

अमेरिकी बाजार में कंपनी कई प्रोडक्‍ट लॉन्‍च करने वाली है. छोटी अवधि में यह भी इसके शेयरों में हवा देगा. डॉ रेड्डीज लैब के कुल मार्केट में अमेरिका की हिस्सेदारी करीब 37 फीसदी है.

डीआरएल की प्रोडक्‍ट पाइपलाइन काफी मजबूत है. नए लॉन्‍च होने वाले ज्यादातर प्रोडक्‍ट जटिल और खास प्रोडक्‍ट सेगमेंट के हैं. डॉ रेड्डीज लैब ने अमेरिका में अक्टूबर 2020 में कुवान का जेनरिक वर्जन लॉन्‍च किया था. यह इसका पाउडर वर्जन जल्‍द लॉन्‍च करने वाली है. चूंकि, पाउडर वर्जन की मार्केट हिस्सेदारी 70 फीसदी है. लिहाजा, आने वाली तिमाहियों में डीआरएल को इस प्रोडक्‍ट से ज्यादा रेवेन्यू पाने में मदद मिल सकती है.

इसे भी पढ़ें : कैसा है एलएंडटी टैक्‍स एडवांटेज म्‍यूचुअल फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

एपीआई की किल्लत के चलते विलंब के बावजूद डीआरएल अपनी जेनेरिक दवा वासेपा को जल्‍द लॉन्‍च करने के लिए प्रतिबद्ध है. 2021-22 के दौरान वह धीरे-धीरे इसका उत्पादन बढ़ाएगी.

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है. कुछ दवाओं को लेकर इसका दबदबा रहा है. यह फ्री कैश फ्लो (एफसीएफ) भी जनरेट कर रही है. 42 में से 36 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. वहीं, 5 ने इसे होल्‍ड करने की राय दी है. 1 का कहना है कि इसे बेचना चाहिए.

master9

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

डॉ रेड्डीज लैबरेवेन्‍यूनिवेश की सलाहतीसरी तिमाही के नतीजेडीआरएलदवाविश्‍लेषक

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS
Fintech

Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS

10 mins read
Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.
Auto

Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.

12 mins read

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैनयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) आईएलएस अस्पताल श्रृंखला का परिचालन करने वाली जीपीटी हेल्थकेयर ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। आईपीओ के तहत कंपनी 17.5 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी। इसके अलावा कंपनी की एक प्रवर्तक इकाई तथा एक निवेशक 2.98 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। नए शेयरों की बिक्री से जुटाई गई राशि का इस्तेमाल कंपनी चिकित्सा उपकरणों की खरीद और अन्य कॉरपोरेट कामकाज के लिए करेगी। जीपीटी हेल्थकेयर पूर्वी भारत में ‘आईएलएस हॉस्पिटल्स’ ब्रांड के तहत मध्यम आकारएनपीएस में निवेश किया है? जानिए एसेट एलोकेशन में कैसे करें बदलाव

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) आईएलएस अस्पताल श्रृंखला का परिचालन करने वाली जीपीटी हेल्थकेयर ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। आईपीओ के तहत कंपनी 17.5 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी। इसके अलावा कंपनी की एक प्रवर्तक इकाई तथा एक निवेशक 2.98 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। नए शेयरों की बिक्री से जुटाई गई राशि का इस्तेमाल कंपनी चिकित्सा उपकरणों की खरीद और अन्य कॉरपोरेट कामकाज के लिए करेगी। जीपीटी हेल्थकेयर पूर्वी भारत में ‘आईएलएस हॉस्पिटल्स’ ब्रांड के तहत मध्यम आकारनिवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
रम्मीकल्चर प्ले स्टोर

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का शेयर सोमवार को पांच प्रतिशत टूटकर अपनी निचली सर्किट सीमा को छू गया। कंपनी ने अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी कार्लाइल ग्रुप और अन्य को 4,000 करोड़ रुपये की शेयर बिक्री योजना को छोड़ दिया है जिसके बाद उसके शेयरों में गिरावट आई। बीएसई में कंपनी का शेयर पांच प्रतिशत टूटकर 607.10 रुपये की अपनी निचली सर्किट सीमा पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भी कंपनी का शेयर अपने निचले सर्किट पर आ गया। एनएसई में कंपनी का शेयर 4.99 प्रतिशत टूटकर 606.75 रुपये पर आ गया।

lovebet २०पी रूले

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

लॉटरी खेला संबाद

September job status: देश के 8 राज्यों में बेरोजगारी की दर सितंबर में 2 अंकों में पहुंच गई है।

ऑनलाइन पोकर हैक सभी कार्ड देखें

बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.

करीना वाला

अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में एनर्जी एक्सचेंज में स्पॉट बिजली के भाव ₹18 प्रति यूनिट तक पहुंच गए थे और कई राज्यों की बिजली वितरण कंपनियों को बिजली खरीदने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
ऑनलाइन पोकर सिर्फ मनोरंजन के लिए

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम मौजूदा त्योहारी सीजन के दौरान विपणन (मार्केटिंग) अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इस अभियान के तहत कंपनी अपने ग्राहकों को कैशबैक की पेशकश करेगी। इसके अलावा कंपनी यूपीआई और ‘बाय नाउ, पे लेटर’ के प्रसार के लिए भी अभियान चलाएगी। कंपनी ने भारत के सभी जिलों के ग्राहकों के लिए विपणन अभियान के तहत ‘पेटीएम कैशबैक धमाका’ की शुरुआत की है। इस अभियान के तहत कंपनी विशेष रूप से गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक जैसे राज्यों पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पेटीएम ने

बैकरेट संभाव्यता विश्लेषण सॉफ्टवेयर

न्यूयॉर्क, 18 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दुनियाभर में कोविड-19 महामारी से मुकाबले के लिए एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय ढांचा बनाने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि टीके के कच्चे माल के लिए आपूर्ति श्रृंखला को खुला रखने की जरूरत है। वित्त मंत्री ने रविवार को जी30 अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग सेमिनार में वर्चुअल तरीके से भाग लेते हुए यह बात कही। वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। सीतारमण ने जलवायु और महामारी से सुरक्षा के लिए वित्त और प्रौद्योगिकी समाधान के समान तरीके से वितरण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इसके लिए केंद्रित तरीके से