टेक्सास होल्डम ट्यूटोरियल

टेक्सास होल्डम ट्यूटोरियल

time:2021-10-21 14:00:42 ये कंपनियां भी बढ़ा रही हैं अपने वाहनों के दाम, जनवरी से हो जाएंगे महंगे Views:4591

फुटबॉल बाधा सिफारिश टेक्सास होल्डम ट्यूटोरियल 10cric ios ऐप,casumo सट्टेबाजी ऐप,लियोवेगास नो डिपॉजिट बोनस कोड 2020,lovebet बेटस्लिप चेक,lovebet मूवी डाउनलोड,lovebet एक्सएमएल डेटा फीड,abzorba लाइव लाठी हैक APK,बैकारेट ई,बैकारेट चाय,बेटिंग ग्रुप टेलीग्राम,कैसीनो 888 अरबी,कैसीनो छत न्यूपोर्ट आरआई,क्लासिक रम्मी कैसे खेलें,क्रिकेट मैं फोन,डीओटीए 2 लवबेट,यूरोपीय फुटबॉल एचडी लाइव,फ़ुटबॉल प्रबंधक व्यावसायिक मंच,जेनेसिस कैसीनो इंडिया के सीईओ को निकाल दिया गया,बुकमेकर ऑड्स की तुलना कैसे करते हैं,आईपीएल गेम डाउनलोड,जैकपॉट उद्धरण,लाइव लाठी मोबाइल,लाइव रूले व्हील फ्री,लॉटरी वीडियो,ना फुटबॉल चहचहाना,ऑनलाइन कैसीनो साइन अप बोनस,ऑनलाइन पोकर मुक्त बोनस,पैरिमैच कस्टमर केयर नंबर इंडिया,पोकर f fietsendrager,आर पोकर पैकेज,शासन करो और विभाजित करो,रमी तमिल फिल्म,स्लॉट मशीन खोजक बिलोक्सी,स्पोर्टपेसा मेगा जैकपॉट गेम परिणाम,स्पोर्ट्सबुक एक्सचेंज,टेक्सास होल्डम हैंड ऑड्स,आज लॉटरी परिणाम,आज रात कौन सा फुटबॉल लाइव है,एक्स फुटबॉल जूते,इलेक्ट्रॉनिक खेल png,कैसीनो के खेल रेट,गोवा ऋण,झमाझम बरसात,फुटबॉल या खेड़ा ची माहिती,बेटा पिक्चर अनिल कपूर की,लॉटरी खेला के रिजल्ट,स्पोर्ट्स लाइव .ये कंपनियां भी बढ़ा रही हैं अपने वाहनों के दाम, जनवरी से हो जाएंगे महंगे

इन सब ने मूल्‍यवृद्धि के पीछे बढ़ती इनपुट कॉस्‍ट का हवाला दिया है.
नई दिल्‍ली : तमाम ऑटोमोबाइल कंपनियों के बाद अब टाटा मोटर्स, बीएमडब्ल्यू और इसुजु मोटर्स ने भी अपने वाहनों के दाम बढ़ाने का एलान किया है. यह बढ़ोतरी जनवरी से लागू होगी. सभी मॉडलों के दामों में यह वृद्धि अलग-अलग होगी.

शुरुआत करते हैं टाटा मोटर्स से. इसने अपने सभी कमर्शियल वाहनों की कीमत बढ़ाने की घोषणा की है. कंपनी ने इसकी वजह वाहनों की लागत बढ़ना, करेंसी की विनिमय दर का असर होना और बीएस-6 उत्सर्जन मानकों के लिए बदलाव करना बताया है. उसने कहा कि कच्चे माल की लागत में लगातार बढ़ोतरी होने से वाहनों की मैन्‍यूफैक्‍चरिंग कॉस्‍ट बढ़ी है. इसके असर को आंशिक तौर पर कम करने के लिए कीमतों में बढ़ोतरी करना जरूरी हो गया है. वाहनों की कीमत में वृद्धि उनके मॉडल, ईंधन के प्रकार और इंजन विकल्पों पर निर्भर करेगी.

इसे भी पढ़ें : ये हैं 8 नए फीचर वाले स्‍मार्टफोन, जानिए क्‍या हैं इनकी खूबियां

इसी तरह जर्मनी की लक्जरी कार कंपनी बीएमडब्ल्यू ने भी जनवरी से भारत में अपने सभी मॉडलों की कीमतों में दो फीसदी तक वृद्धि की घोषणा की है. कंपनी ने बताया है कि वह चार जनवरी, 2021 से अपने सभी बीएमडब्ल्यू और मिनी के मॉडलों की कीमतों में संशोधन करने जा रही है. यह कीमत वृद्धि दो फीसदी तक होगी.

बीएमडब्ल्यू ग्रुप इंडिया के प्रेसीडेंट विक्रम पावह ने कहा, ''चार जनवरी, 2021 से कंपनी अपने बीएमडब्ल्यू और मिनी के पोर्टफोलियो की कीमतों में दो फीसदी की वृद्धि करने जा रही है. उत्पादन लागत में बढ़ोतरी की वजह से कंपनी को यह कदम उठाना पड़ रहा है.''

कंपनी भारतीय बाजार में स्थानीय स्तर पर विनिर्मित कारें - 2 सीरीज ग्रैन कूपे, 3 सीरीज, 3 सीरीज ग्रैन टूरिज्मो, 5 सीरीज, 6 सीरीज ग्रैन टूरिज्मो, एक्स1, एक्स3, एक्स4, एक्स5, एक्स7 और मिनी कंट्रीमैन बेचती है.

इसे भी पढ़ें : होंडा की कारें भी होंगी महंगी, जनवरी से बढ़ेंगे दाम

इसके अलावा कंपनी भारतीय बाजार में 8 सीरीज ग्रैन कूपे,, एक्स6, एम2 कॉम्पिटिशन, एम5 कॉम्पिटिशन, एम8 कूपे, एक्स3 एम और एक्स5 एम भी बेचती है. ये मॉडल यहां पूर्ण निर्मित इकाई (सीबीयू) के रूप में आते हैं. इसके अलावा कंपनी मिनी डीलरशिप के जरिये मिनी 3-डोर, मिनी 5-डोर, मिनी कन्वर्टिबल, मिनी क्लबमैन और मिनी जॉन कपूर वर्क्स हैच को सीबीयू के रूप में बेचती है.

अपने वाहनों के दाम बढ़ाने का एलान करने वाली ताजा कंपनियों में तीसरा नाम इसुजु मोटर्स का है. यह अपने पिक-अप रेंज की गाड़‍ियों के दाम बढ़ा रही है. इनमें डी-मैक्‍स रेगुलर कैब और डी-मैक्‍स एस-कैब हैं. यह मूल्‍य वृद्धि एक जनवरी से लागू होगी. दाम बढ़ाने के पीछे उसने बढ़ती इनपुट और डिस्‍ट्रीब्‍यूशन कॉस्‍ट का हवाला दिया है.

इसके पहले मारुति सुजुकी, फोर्ड, महिंद्रा एंड महिंद्रा, रेनॉ और होंंडा अपनी कारों के दाम बढ़ाने का एलान कर चुकी हैं. इन सब ने भी मूल्‍यवृद्धि के पीछे बढ़ती इनपुट कॉस्‍ट का हवाला दिया है. कीमतों में बढ़ोतरी जनवरी से लागू होगी.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

बीएमडब्ल्यूटाटा मोटर्सइसुजु मोटर्सइनपुट कॉस्‍टकीमतों में बढ़ोतरी

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.फ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.ये कंपनियां भी बढ़ा रही हैं अपने वाहनों के दाम, जनवरी से हो जाएंगे महंगे

कीमतों में यह बढ़ोतरी विभिन्‍न मॉडलों में अलग-अलग होगी. यह वास्‍तव में कितनी होगी, इस बारे में जल्‍द ही डीलरों को बताया जाएगा.वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.दिवाली से पहले धनतेरस में सिक्कों और हल्के आभूषणों की बिक्री बढ़ी

जो लोग इन कीमती धातुओं को नहीं खरीद सकते, वे इस साल दो दिन मनाए जा रहे धनतेरस त्योहार के मौके पर स्टील के बर्तन खरीद रहे हैं.अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet ई/डब्ल्यू ऑड्स

धनतेरस और दिवाली के दिन सोना खरीदना शुभ माना जाता है.

क्रिकेट डीजे

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.

केरल लाटरी का परिणाम

धनतेरस और दिवाली के दिन सोना खरीदना शुभ माना जाता है.

गोंडो का साहसिक कार्य

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.

बरसात फिल्म 1995

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी