सबा स्पोर्ट्स में क्या खराबी है?

सबा स्पोर्ट्स में क्या खराबी है?

time:2021-10-18 16:13:16 मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं? Views:4591

ऑनलाइन कैसीनो मुफ्त खेल सबा स्पोर्ट्स में क्या खराबी है? 10cric ऐप काम नहीं कर रहा है,betway युगांडा लॉगिन,लियोवेगास हुवुदकोंटोर,lovebet एओ विवो resultados,lovebet लॉगिन नाइजीरिया,lovebet बनाम परिमैच,एक फुटबॉल टीम,बैकरेट क्रैकिंग एनालाइजर,बैकरेट खरीदारी,सट्टेबाजी की किताब,कैसीनो 24 ऑनलाइन,कैसीनो रोयाले कास्ट,चोई गेम fun88,क्रिकेट खेल पीसी,डीएच फुटबॉल बेलगिक,यूरोपीय कप शेड्यूल रिप्ले,फुटबॉल सूचना सट्टेबाजी नेटवर्क,उत्पत्ति कैसीनो विकल्प,एचडी फुटबॉल छवियां,आईपीएल सभी मैच सूची 2021,जैकपॉट का मतलब,लाइव लाठी कैसीनो यूएसए,लाइव रूले ऑनलाइन असली पैसा,लॉटरी थाई,एमआरसीपी बेस्ट ऑफ फाइव पीडीएफ,ऑनलाइन कैसीनो nz,ऑनलाइन पोकर और कैसीनो,पी पोकर,पोकर दा दिनहिरो,बैकरेट ओपन बैंक और प्ले की संभावना,शाही उद्धरण,रम्मी ओ निर्देश,स्लॉट मशीन एल्गोरिथ्म,स्लॉट आप असली पैसे के लिए खेल सकते हैं,स्पोर्ट्सबाइकशॉप 0 फाइनेंस,टेक्सास होल्डम कैलकुलेटर,स्लॉट कैसीनो,फ़ुटबॉल ऑड्स क्या हैं,विश्व फुटबॉल टीम रैंकिंग,इलेक्ट्रॉनिक खेल badminton,कैसीनो के खेल hd,गीता ज्ञान,जोकर मेरा नाम,फुटबॉल ट्रिक्स,बेटा जी,लॉटरी इन बाजार,स्पोर्ट्स टी शर्ट्स डिज़ाइन .मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.
कई निवेशक अपने निवेश को लेकर आश्वस्त नहीं रहते हैं. उनके मन में कई सवाल चलते रहते हैं. मसलन-क्या उन्होंने सही जगह निवेश किया है? क्या उनका पोर्टफोलियो सही दिशा में बढ़ रहा है? ईटी के पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशक के पोर्टफोलियो के स्वास्थ्य का निरीक्षण कर सही सलाह देते हैं.

पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशकों की स्कीम का विश्लेषण करते हैं. उसके बाद बताते हैं कि क्या ये स्कीमें उनके लक्ष्य तक पहुंचने में उनकी मदद कर सकती हैं या नहीं. जरूरत पड़ने पर वे सही उपचार भी बताते हैं. उनकी सलाह फंड्स के प्रदर्शन, निवेशक की जोखिम क्षमता और वित्तीय लक्ष्य पर आधारित होती है.

केस 1 : आदित्य सेन बेटे के लक्ष्‍यों के साथ अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. वह अपने रिटायरमेंट के लिए 19 साल में 1.24 करोड़ रुपये जुटा लेना चाहते हैं. आइए, देखते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

इसे भी पढ़ें : कैसा है फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

लक्ष्य
master

निवेश पोर्टफोलियो
master1

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 1-2 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- चुनी गई सभी स्‍कीमें अच्छी हैं. लेकिन, निवेश बढ़ाने की जरूरत है.
- लक्ष्‍यों तक पहुंचने के लिए हर साल सिप की रकम 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- फंडों के अलावा हर महीने शेयरों में भी सीधे निवेश करें.
- इंश्‍योरेंस प्‍लान और चाइल्‍ड यूलिप भी होल्ड करें.
- सेविंग बैंक में काफी पैसा यूं ही पड़ा है. रेकरिंग डिपॉजिट से रिटर्न पूरी तरह टैक्सेबल है.

डॉक्टर का नोट
- इंश्‍योरेंस पॉलिसी में निवेश नहीं करें. रिटर्न बहुत कम हैं.
- रेकरिंग डिपॉजिट पूरी तरह टैक्सेबल हैं. बजाय इसके डेट फंडों को चुनें.
- यूलिप खरीदते वक्त प्रमुख लक्ष्‍यों के साथ मैच्‍योरिटी को अलाइन करें.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इसे भी पढ़ें : इन 7 कारणों से पीपीएफ है सबसे पसंदीदा टैक्‍स सेविंग विकल्‍पों में से एक

केस 2 : दीपक सिरोही बच्‍चे की शिक्षा और अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. आइए, जानते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

लक्ष्य
master2

निवेशक का पोर्टफोलियो
master3

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 2-3 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- लक्ष्य महत्वाकांक्षी हैं और मासिक निवेश में बड़ी बढ़ोतरी की जरूरत होगी.
- सिप की भी रकम हर साल 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य करीब आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इस कैलकुलेशन में माना गया है कि
- शिक्षा खर्च हर साल 10 फीसदी बढ़ेगा.
- अन्य लक्ष्यों के लिए महंगाई दर को 7 फीसदी रखा गया है.

रिटर्न
- इक्विटी से रिटर्न को 12 फीसदी रखा गया है.
- डेट से रिटर्न को 8 फीसदी रखा गया है.

इन पोर्टफोलियो की समीक्षा माईमनी मंत्रा के एमडी और संस्‍थापक राज खोसला ने की है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

RETIREMENT PLANNINGरिटायरमेंट प्‍लानिंगबच्‍चों के लक्ष्‍यप्‍लानिंगरिटायरमेंटनिवेश पोर्टफोलियोपोर्टफोलियो डॉक्‍टर

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business
Markets

Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business

8 mins read
Still taxiing: Akasa Air, Jet Airways continue to wait for green signal. When will they take off?
Aviation

Still taxiing: Akasa Air, Jet Airways continue to wait for green signal. When will they take off?

15 mins read

मस्क अभी कई कंपनियों के सर्वेसर्वा हैं। इनमें टेस्ला, रॉकेट स्टार्टअप स्पेसएक्स (SpaceX) और Neuralink शामिल हैं। Neuralink इंसानी दिमाग को कम्प्यूटर से जोड़ने के लिए अल्ट्रा-हाई बैंडविड्थ ब्रेन मशीन विकसित कर रही है। पिछले कुछ साल से मस्क और बेजोस के बीच स्पेस में जाने के लिए होड़ मची हुई है। अप्रैल में नासा ने बेजोस की कंपनी ब्लू ऑरिजिन की बोली को खारिज करते हुए मस्क की कंपनी स्पेसएक्स को 2.9 अरब डॉलर का ठेका दिया था।अब माइक्रो एसयूवी सेगमेंट में भारतीय कार कंपनी टाटा मोटर्स ने भी कदम रख दिया है। Tata Motors ने अपनी नई Micro SUV Tata Punch को भारतीय बाजार में उतार दिया है। टाटा पंच की कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू होकर 8.49 लाख रुपये तक रखी गई है। Tata Punch में 1.2 लीटर 3 सिलिंडर नेचुरली एस्पिरेटेड पेट्रोल इंजन दिया गया है, जो 85bhp तक की पावर और 113Nm टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम है। ट्रांसमिशन ऑप्शन, 5 स्पीड मैनुअल और AMT के साथ पेश किया गया है।टाटा मोटर्स ने सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी ‘पंच’ उतारी, कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू

इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.September job status: देश के 8 राज्यों में बेरोजगारी की दर सितंबर में 2 अंकों में पहुंच गई है।त्योहारी सीजन के दौरान विपणन अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी पेटीएम

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.अब माइक्रो एसयूवी सेगमेंट में भारतीय कार कंपनी टाटा मोटर्स ने भी कदम रख दिया है। Tata Motors ने अपनी नई Micro SUV Tata Punch को भारतीय बाजार में उतार दिया है। टाटा पंच की कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू होकर 8.49 लाख रुपये तक रखी गई है। Tata Punch में 1.2 लीटर 3 सिलिंडर नेचुरली एस्पिरेटेड पेट्रोल इंजन दिया गया है, जो 85bhp तक की पावर और 113Nm टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम है। ट्रांसमिशन ऑप्शन, 5 स्पीड मैनुअल और AMT के साथ पेश किया गया है।Tata Punch Launched: टाटा ने लॉन्च की 'पंच', क्या बदल पाएगी भारत में माइक्रो SUV सेगमेंट की तस्वीर

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
डिलीट video रिकवरी एप्प डाउनलोड

क्या आप यह जानते हैं कि आपके कार या बाइक में डलने वाले पेट्रोल का भाव अब हवाई जहाज के ईंधन की तरह इस्तेमाल होने वाले एविएशन टर्बाइन क्यूल या एटीएफ (ATF) से ज्यादा महंगा हो गया है।

क्लासिक रम्मी रेगलर

सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.

तीन पत्ती live

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) नायका, अडाणी विल्मर और स्टार हेल्थ एंड अलायड इंश्योरेंस सहित छह कंपनियों को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए मंजूरी मिल गई है। इनके अलावा पेन्ना सीमेंट इंडस्ट्रीज, लेटेंट व्यू एनालिटिक्स तथा सिगाची इंडस्ट्रीज को भी नियामक से आरंभिक शेयर बिक्री की अनुमति मिली है। इन कंपनियों ने सेबी के पास आईपीओ के लिए शुरुआती दस्तावेज मई और अगस्त के बीच जमा कराए थे। सेबी के ‘अपडेट’ के अनुसार, इन कंपनियो को आईपीओ के लिए बाजार नियामक का ‘निष्कर्ष’ 11 से 14 अक्टूबर के बीच मिला।

क्या कोई प्रतिष्ठित फुटबॉल नेटवर्क है?

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

ऑनलाइन लाइव कैसीनो यूआरएल

अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में एनर्जी एक्सचेंज में स्पॉट बिजली के भाव ₹18 प्रति यूनिट तक पहुंच गए थे और कई राज्यों की बिजली वितरण कंपनियों को बिजली खरीदने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
बेस्ट हवाई फाइव ओ सीजन्स

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) आईएलएस अस्पताल श्रृंखला का परिचालन करने वाली जीपीटी हेल्थकेयर ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। आईपीओ के तहत कंपनी 17.5 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी। इसके अलावा कंपनी की एक प्रवर्तक इकाई तथा एक निवेशक 2.98 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। नए शेयरों की बिक्री से जुटाई गई राशि का इस्तेमाल कंपनी चिकित्सा उपकरणों की खरीद और अन्य कॉरपोरेट कामकाज के लिए करेगी। जीपीटी हेल्थकेयर पूर्वी भारत में ‘आईएलएस हॉस्पिटल्स’ ब्रांड के तहत मध्यम आकार