खेल लॉटरी नागिन

खेल लॉटरी नागिन

time:2021-10-18 16:26:41 पहली छमाही में सोने का आयात कई गुना बढ़कर 24 अरब डॉलर पर Views:4591

क्या लवबेट सुरक्षित है खेल लॉटरी नागिन 188bet पेनिपु,casumo ज़हलुंग्समेथोडेन,lovebet 2 टेम्पो पारा गन्हार,lovebet पासवर्ड भूल गया,lovebet पंजीकरण प्रक्रिया,lovebetडक,बैकारेट 30 सेमी फ्राईपैन,बैकारेट लास वेगास,बेस्ट 5 जोन इंडक्शन हॉब,भ पोकर स्पोर्ट्स,कैसीनो सनकी,चा फुटबॉल टीम,क्रिकेट 3डी लाइट,क्रिकेट स्कोर लाइव आज मैच,ई-स्पोर्ट्स प्रबंधन केएफटी,फुटबॉल 3 आकार,फ़ुटबॉल जीतने का प्रचार,ज्ञान फुटबॉल खिलाड़ी,पैसे कमाने के लिए बैकारेट कैसे खेलें,क्या लाइव वीडियो बैकारेट ऑनलाइन खेलना सुरक्षित है?,जंगल रम्मी वेबसाइट,लाइव कैसीनो लॉबी,लॉटरी ड्रा लाइव,लूडो लूडो गेम,ओडिबेट्स प्रेडिक्शन टुडे गेम्स,दोस्तों के लिए ऑनलाइन गेम,ऑनलाइन वास्तविक धन जुआ नेटवर्क,लाइव रूले.fr,पोकर रानी,रू कैसीनो,रम्मी 2 डेक नियम,रम्मीकल्चर कैसे खेला जाता है,स्लॉट अर्थ,खेल फुटबॉल Net,स्टैंड-अलोन बोर्ड गेम डाउनलोड,सबसे अच्छा बोर्ड गेम प्लेटफॉर्म,यूईएफए चैंपियंस लीग भविष्यवाणी,कैश रूले गेम कंपनी के लिए कौन सा बेहतर है,21 बजे us,ऑनलाइन पैसे बनाएं live,क्रिकेट के हिंदी,गोवा लोकेशन,तीन पत्ती लकड़ी गेम,बकरी लोन,बैल का वर्ष मुबारक,स्टेटस एप्प डाउनलोड, .पहली छमाही में सोने का आयात कई गुना बढ़कर 24 अरब डॉलर पर

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) देश का सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर, 2021 के दौरान कई गुना बढ़कर 24 अरब डॉलर पर पहुंच गया। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।

देश में सोने की मांग बढ़ने से आयात बढ़ा है। सोने के आयात से चालू खाते के घाटे (कैड) पर असर पड़ता है।

पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में सोने का आयात 6.8 अरब डॉलर रहा था।

इस साल सितंबर में सोने का आयात भी कई गुना बढ़कर 5.11 अरब डॉलर हो गया। सितंबर, 2021 में यह 60.14 करोड़ डॉलर रहा था।

वहीं दूसरी ओर अप्रैल-सितंबर में चांदी का आयात 15.5 प्रतिशत घटकर 61.93 करोड़ डॉलर रह गया। हालांकि, सितंबर में चांदी का आयात बढ़कर 55.23 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया, जो सितंबर, 2020 में 92.3 लाख डॉलर रहा था।

सोने के आयात में उल्लेखनीय बढ़ोतरी से सितंबर में देश का व्यापार घाटा रिकॉर्ड स्तर पर बढ़कर 22.6 अरब डॉलर हो गया। एक साल पहले समान महीने में यह 2.96 अरब डॉलर रहा था। आयात और निर्यात का अंतर व्यापार घाटा होता है।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा सोने का आयातक है। सालाना आधार पर भारत 800 से 900 टन सोने का आयात करता है।

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में रत्न एवं आभूषणों का निर्यात बढ़कर 19.3 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 8.7 अरब डॉलर रहा था।

रत्न एवं आभूषण निर्यात संवर्द्धन परिषद (जीजेईपीसी) के चेयरमैन कोलिन शाह ने कहा कि त्योहारी सीजन तथा भारी मांग की वजह से सोने का आयात बढ़ा है।

निर्यातकों के संगठन फियो के महानिदेशक अजय सहाय ने भी इसी तरह की राय जताते हुए कहा कि मुख्य रूप से मांग बढ़ने की वजह से सोने के आयात में वृद्धि हुई है।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Air India sale: With the government exiting Maharaja’s cockpit, can Tatas pilot the airline to glory?
Aviation

Air India sale: With the government exiting Maharaja’s cockpit, can Tatas pilot the airline to glory?

14 mins read
How troubled Srei lenders gave INR9,300 crore sweet loans to companies linked to Kanorias
Under the lens

How troubled Srei lenders gave INR9,300 crore sweet loans to companies linked to Kanorias

8 mins read
PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) देश का सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर, 2021 के दौरान कई गुना बढ़कर 24 अरब डॉलर पर पहुंच गया। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। देश में सोने की मांग बढ़ने से आयात बढ़ा है। सोने के आयात से चालू खाते के घाटे (कैड) पर असर पड़ता है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में सोने का आयात 6.8 अरब डॉलर रहा था। इस साल सितंबर में सोने का आयात भी कई गुना बढ़कर 5.11 अरब डॉलर हो गया। सितंबर, 2021 में यह 60.14 करोड़योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.Share Market update: सेंसेक्स 500 अंक की बढ़त के साथ नए रेकॉर्ड पर, इन्फोसिस में सबसे ज्यादा तेजी

हाल में इनपुट कॉस्‍ट में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए मारुति सुजुकी इंडिया, रेनॉ इंडिया, होंडा कार्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड इंडिया, इसुजु, बीएमडब्ल्यू इंडिया, ऑडी इंडिया और हीरो मोटो कार्प जैसी वाहन कंपनियां पहले ही जनवरी से कीमतें बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं.हाल में इनपुट कॉस्‍ट में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए मारुति सुजुकी इंडिया, रेनॉ इंडिया, होंडा कार्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड इंडिया, इसुजु, बीएमडब्ल्यू इंडिया, ऑडी इंडिया और हीरो मोटो कार्प जैसी वाहन कंपनियां पहले ही जनवरी से कीमतें बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं.मारुति की कारें होंगी महंगी, अप्रैल से बढ़ जाएंगे दाम

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) वीएलसीसी हेल्थकेयर लिमिटेड ने एक विदेशी कंपनी को शेयर बेचकर करीब 37 करोड़ रुपये जुटाए हैं। कंपनी जल्द अपना आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने की तैयारी कर रही है। कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय को दी जानकारी में कंपनी ने बताया कि उसने बहामास स्थित जैल होल्डिंग्स लिमिटेड को लगभग 37 करोड़ रुपये में 6,27,804 इक्विटी शेयर जारी किए गए हैं। सौंदर्य उत्पाद बनाने वाली घरेलू कंपनी वीएलसीसी इस राशि का इस्तेमाल कार्यशील पूंजी की जरूरत को पूरा करने के अलावा अपने कारोबार के साथ-साथ अपनी अनुषंगी इकाइयों के विस्तार पर करेगी। कंपनी द्वारा मंत्रालयकोलकाता, 17 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में 13 अक्टूबर तक पूर्वी क्षेत्र में बिजली उत्पादन 8.48 प्रतिशत की दर से बढ़ा, जबकि इस दौरान अन्य क्षेत्रों में लगभग पांच प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। आंकड़ों के मुताबिक समीक्षाधीन अवधि में अखिल भारतीय ताप बिजली उत्पादन 3.64 प्रतिशत घट गया, जबकि कुल उत्पादन में 2.92 प्रतिशत की कमी हुई। पूर्वी क्षेत्र में 13 अक्टूबर तक ताप बिजली उत्पादन 9.54 प्रतिशत बढ़ा, जबकि पन बिजली के उत्पादन में लगभग एक प्रतिशत की वृद्धि हुई। गौरतलब है कि इस दौरान देश के कुछजयशंकर ने भारत में अवसरों पर ध्यान देने के लिए इजराइली कारोबारियों को प्रोत्साहित किया

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
छात्र लॉटरी संगबाद

हाल में इनपुट कॉस्‍ट में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए मारुति सुजुकी इंडिया, रेनॉ इंडिया, होंडा कार्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड इंडिया, इसुजु, बीएमडब्ल्यू इंडिया, ऑडी इंडिया और हीरो मोटो कार्प जैसी वाहन कंपनियां पहले ही जनवरी से कीमतें बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं.

जुआ सॉफ्टवेयर डाउनलोड

फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है.

मोबाइल गेम बैकारेट

सेंसेक्स 61,894.33 अंक के सर्वकालिक उच्चस्तर को छूने के बाद 511.54 अंक की बढ़त के साथ 61,817.49 अंक पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी भी शुरुआती कारोबार में 157.40 अंक की बढ़त के साथ 18,495.95 अंक के स्तर पर पहुंच गया। सेंसेक्स की कंपनियों में इन्फोसिस (Infosys) का शेयर सबसे अधिक 2 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ गया।

गोल्डन चिप्स लवबेट

साल 2020 पूरी तरह के कोरोना वायरस महामारी के नाम रहा. इसकी वजह से न सिर्फ दुनिया में आर्थिक मंदी का खतरा बढ़ गया, मगर कई इंडस्ट्रीज में सुस्ती का माहौल भी छा गया. इसमें ऑटो सेक्टर भी अछूता नहीं रहा.हालांकि, इस साल कई दिग्गज कार कंपनियों ने एक-के-बाद-एक बेहतरीन और शानदार कार और बाइक्स मार्केट में उतारी. सुपरफास्ट इंजन, आकर्षक लुक्स और महंगे दाम वाली कई कार और बाइक ने बाजार को अपना दिवाना बनाया. जानिए इस साल सड़कों पर उतरी कौनसे लग्जरी वाहन:

फुटबॉल कमेंटेटर

क्या कभी आपने सोचा है कि वैलेंटाइन डे पर पुरुष ज्यादा खर्च करते हैं या महिलाएं ? इस सवाल को लेकर हम आपकी उलझन खत्म कर देते हैं. पुरुष वैलेंटाइन डे सेलिब्रेट करने के लिए औसतन 4000 रुपये खर्च करते हैं. वहीं, महिलाएं इस मौके पर 2000 रुपये खर्च करती हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी