ऋतु बरसात

Publishing time:2021-10-26 19:16:25

लाइव रूले पेपैल ऋतु बरसात 188bet इंडोनेशिया,casumo स्पोर्ट्स ऐप,lovebet 10 फ्री स्पिन,lovebet एम,lovebet प्रोमो कोड 2020,lovebet4pda,बी पोकर बहादुर,बैकरेट सूचना नेटवर्क,बैकारेट का ड्रैगन शिकार,सट्टेबाजी वीआईपी युक्तियाँ,कैसीनो दिनों का समर्थन,कैसिनोडेज़ सीरियल,कोमो funciona या lovebet,क्रिकेट खिलाड़ियों का नाम n . के साथ,एस्पोर्ट्स गेम,मछली पकड़ने की भीड़ झील एमएनई,फुटबॉल गेंद,जीके ट्रिक क्रिकेट,बैकारेट रोड लिस्ट को कैसे देखें,आईपीएल कल मैच हाइलाइट्स,जंगल रम्मी APK,लाइव कैसीनो ग्रीन्सबर्ग,लॉटरी या जैकपॉट,लूडो गेम्स,ओ कैसीनो गोवा,ऑनलाइन गेम साहसिक,ऑनलाइन पोकर वूर गेल्ड,पैरिमैच सपोर्ट,पोकर ओ पेनिएज़े,प्रतिष्ठित वेबसाइट,नियम बनाम कानून,रम्मीकल्चर ग्राहक सेवा संख्या,स्लॉट मशीन यूएसए,स्पोर्ट्स ब्रा जॉकी,स्पोर्ट्सबुक वर्जीनिया,टेक्सास होल्डम वर्टंग,यूईएफए चैंपियंस लीग अंतिम बार,कौन सा बैकारेट नाटक सबसे स्थिर है,राशि चक्रस्पोर्ट्सबुक,ऑनलाइन जुआ whatsapp,क्रिकेट ः२० वर्ल्ड कप,गोवा फोटो,तीन पत्ती ताश,बकरा सॉन्ग,बैकारेट jpg,साइगॉन लॉटरी, .अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सर्वे के अनुसार, घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की.
नई दिल्ली : भारत में काम करने वाली करीब 87 फीसदी कंपनियां 2021 में कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की योजना बना रही हैं. इसके मुकाबले 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने ही वेतन में वृद्धि की. ग्‍लोबल प्रोफेशनल सर्विसेज फर्म एओन के सर्वे से इसका पता चलता है.

सर्वे के अनुसार, कोरोना संकट से प्रभावित अर्थव्यवस्था के दौर में घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की. यह पिछले एक दशक में सबसे निचला स्तर है. हालांकि, अगले साल औसत वेतनवृद्धि 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें : घर खरीदने के लिए क्‍या यह सबसे अच्‍छा समय है?

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है. 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने वेतन में वृद्धि की. जबकि 2021 में 87 फीसदी कंपनियां वेतनवृद्धि करने के पक्ष में हैं.

सर्वे के मुताबिक, भारत में औसत वेतनवृद्धि 2020 में 6.1 फीसदी रही. यह 2009 के 6.3 फीसदी के औसत से भी नीचे है. एओन के 'सैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडिया' में कहा गया है कि अगले साल कंपनियां वेतन में औसत 7.3 फीसदी की वृद्धि करेंगी. एओन ने इसके लिए 20 से अधिक इंडस्‍ट्रीज की 1,050 कंपनियों के बीच सर्वे किया था.

सितंबर-अक्टूबर 2020 की स्थिति तक 87 फीसदी कंपनियों ने 2021 में वेतनवृद्धि देने की प्रतिबद्धता जताई. जबकि इसमें 61 फीसदी कंपनियों ने कहा कि वे पांच से 10 फीसदी की वेतनवृद्धि देंगी.

इसे भी पढ़ें : होम लोन की मांग बढ़ने से बैंकों में छिड़ी ब्‍याज दर घटाने की जंग

वर्ष 2020 में 71 फीसदी कंपनियों ने वेतनवृद्धि दी. इसमें से 45 फीसदी ने पांच से 10 फीसदी के बीच वेतनवृद्धि दी. एओन में पार्टनर और सीईओ (परफॉर्मेंस एंड रिवॉर्ड सॉल्‍यूशंस) नितिन सेठी ने कहा, ''यह एक अनोखा साल है. कंपनियां अपने कर्मचारियों और ग्राहकों में निवेश कर रही हैं. कोविड-19 के गहरे असर के बावजूद कंपनियों ने कर्मचारियों को लेकर परिपक्‍व और लचीला रुख दिखाया है.''

हाई-टेक, आईटी, आईटीईएस, लाइफ साइंसेज, ई-कॉमर्स, केमिकल्‍स और प्रोफेशनल सर्विसेज ऐसे सेक्‍टरों में हैं जिनमें सबसे ज्‍यादा वेतनवृद्धि होने के आसार हैं.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

वेतनवृद्धिसैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडियाकंपन‍ियांएओनसैलरी में बढ़ोतरीसर्वे

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read
अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) दीपम (डीआईपीएएम) के सचिव तुहिन कांता पांडे ने मंगलवार को कहा कि सरकार को इरकॉन और एनएचपीसी समेत चार सीपीएसई से लाभांश के रूप में 533 करोड़ रुपये मिले हैं। दीपम सचिव ने ट्वीट किया, ‘‘इरकॉन, एनएचपीसी, कॉनकॉर और हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड ने भारत सरकार को क्रमश: 148 करोड़ रुपये, 294 करोड़ रुपये, 67 करोड़ रुपये और 24 करोड़ रुपये लाभांश के रूप में दिए हैं।’’ निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (डीआईपीएएम) की वेबसाइट के अनुसार, चालू वित्त वर्ष (अप्रैल-मार्च)जियो-बीपी ने अपना पहला पेट्रोल पंप खोला

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) हाजिर बाजार से कमजोरी का संकेत लेते हुए सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को कम किया जिससे वायदा कारोबार में मंगलवार को जस्ता की कीमत 0.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ 282.50 रुपये प्रति किलो रह गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में नवंबर माह में डिलीवरी होने वाले अनुबंध के लिये जस्ता का भाव 2.70 रुपये यानी 0.95 प्रतिशत घटकर 282.50 रुपये प्रति किलो रह गया। इसमें 1,004 लॉट के लिये सौदे किये गये। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में उपभोक्ता उद्योगों की कमजोर मांग केनयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) दीपम (डीआईपीएएम) के सचिव तुहिन कांता पांडे ने मंगलवार को कहा कि सरकार को इरकॉन और एनएचपीसी समेत चार सीपीएसई से लाभांश के रूप में 533 करोड़ रुपये मिले हैं। दीपम सचिव ने ट्वीट किया, ‘‘इरकॉन, एनएचपीसी, कॉनकॉर और हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड ने भारत सरकार को क्रमश: 148 करोड़ रुपये, 294 करोड़ रुपये, 67 करोड़ रुपये और 24 करोड़ रुपये लाभांश के रूप में दिए हैं।’’ निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (डीआईपीएएम) की वेबसाइट के अनुसार, चालू वित्त वर्ष (अप्रैल-मार्च)महंगाई भत्ते में 31 फीसदी तक बढ़ोतरी एक जुलाई से प्रभावी: वित्त मंत्रालय

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक ने मंगलवार को बताया कि सितंबर 2021 को समाप्त दूसरी तिमाही में उसका शुद्ध मुनाफा लगभग सात प्रतिशत घटकर 2,032 करोड़ रुपये रह गया। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक ने 2,184 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा कमाया था। कोटक महिंद्रा बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि वर्ष 2021-22 की जुलाई-सितंबर अवधि के दौरान कुल आय बढ़कर 8,408.87 करोड़ रुपये हो गई, जबकि वित्त वर्ष 2020-21 की समान अवधि में यह 8,252.71 करोड़ रुपये थी। वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में बैंक की शुद्ध ब्याज आय,इसके साथ ही देश के इस सबसे बड़े बैंक ने कहा कि वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्‍कीम (वीआरएस) लागत में कटौती करने के लिए नहीं है.जियो-बीपी ने अपना पहला पेट्रोल पंप खोला

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


पारिमैच टेलीग्राम
शतरंज ६ चाल चेकमेट
बेटा और बेटी पर कविता
स्पीड एक्सप्रेस 3
लूडो मुफ्त डाउनलोड
शतरंज के उद्घाटन
यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल सीरी एक बड़ा नाम
लॉटरी 2021
रश बे फिशिंग
बरसात बॉबी देओल की
betway लाइव
रूले हैक
फुटबॉल एच बैक
बैकरेट बैंकर को जीतना चाहिए
पोकर ऑल टाइम मनी लिस्ट
छोटा लॉटरी
भारत सूची में खेल विश्वविद्यालय
बैकारेट हाउस एज
lovebet अधिग्रहण
लाइव लाठी कार्ड गिनती
कैसीनो कार्ड गेम नियम
कैटरीना धारा
असली कैंटोनीज़ महजोंग
lovebet उपयोगकर्ता
रम्मीकल्चर कैसे खेला जाता है
बरसात तूफान
नकद देने के लिए शतरंज खाता खोलना