खेलो पर जुआ quotes

खेलो पर जुआ quotes

time:2021-10-18 14:48:30 ओडिशा: अप्रैल-सितंबर में खनिज क्षेत्र से राजस्व संग्रह 221 प्रतिशत बढ़ा Views:4591

बैकरेट सट्टेबाजी के नियम खेलो पर जुआ quotes 188bet केन्या,casumo ट्विटर,lovebet 100 फ्री स्पिन,lovebet ई-स्पोर्ट,lovebet क्वांटम रूले,lovebetा पत्रिकाएं,बकारा औ कैसीनो डे मॉन्ट्रियल,बैकारेट निश्चित रूप से जीत रहा है,बैकारेट की मूल सट्टेबाजी विधि,सट्टेबाजी वेबसाइटों की सूची,कैसीनो डिंगो,डेट्रॉइट में कैसीनो,श्रेष्ठ बैकारेट की विश्वसनीयता वह है जो,क्रिकेट उद्धरण,एस्पोर्ट्स गिल्ड नाम,फिशिंग रशकटर बे,फुटबॉल प्रशिक्षण,वैश्विक गेमिंग रैंकिंग,गेमिंग इंडस्ट्री में पैसे कैसे कमाए,आईपीएल जीराम 27 कीमत,जंगल रम्मी ई-लर्निंग,लाइव कैसीनो आईडी,लॉटरी बाजार सोना,लूडो हाय,ओ क्रिकेटर का नाम,ऑनलाइन गेम सट्टेबाजी,वीडियो के साथ ऑनलाइन पोकर,परिमच ट्विटर,पोकर ऑनलाइन भारत,री कैसीनो घंटे,नियम शून्य बिल्लियों के साथ नहीं है,रम्मीकल्चर ईमेल आईडी,स्लॉट मशीन अस्थिरता,स्पोर्ट्स करेंट अफेयर्स 2021,स्पोर्ट्सबुक वायर एनबीए,टेक्सास होल्डम याहू,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल मुफ्त सहायता,कौन सी बेटिंग साइट्स अच्छी हैं,21 बजे app,ऑनलाइन पैसे का खेल,क्रिकेट इंडिया न्यूजीलैंड,गोवा भले बीच में,तीन पत्ती पैसा वाला,बकरी एक जादू,बैकारेट quartz,स्टेटस अँड व्हिडिओ, .ओडिशा: अप्रैल-सितंबर में खनिज क्षेत्र से राजस्व संग्रह 221 प्रतिशत बढ़ा

भुवनेश्वर, 17 अक्टूबर (भाषा) ओडिशा में खनिज क्षेत्र से राजस्व संग्रह अप्रैल-सितंबर के दौरान 221 प्रतिशत बढ़कर 18,841 करोड़ रुपये से अधिक हो गया, जो चालू वित्त वर्ष के लिए इस क्षेत्र के बजटीय अनुमान से अधिक है।

इस क्षेत्र से एक साल पहले की समान अवधि में 5,870.74 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल किया गया था।

राज्य में वित्त विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बजट अनुमान के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 में खनिज राजस्व के रूप में 13,700 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद थी, लेकिन ओडिशा ने काफी पहले ही 30 सितंबर तक 18,841.54 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं।

उन्होंने कहा कि अब राज्य सरकार को 31 मार्च 2022 तक खनिज क्षेत्र से लगभग 36,000 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद है।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS
Fintech

Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS

10 mins read
Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.
Auto

Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.

12 mins read

मारुति (Maruti Suzuki) और टोयोटा (Toyota) की पार्टनरिशप के तहत लॉन्च किया गया पहला वाहन Toyota Glanza है।यह कार मारुति सुजुकी की प्रीमियम हैचबैक Baleno पर बेस्ड है।नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का शेयर सोमवार को पांच प्रतिशत टूटकर अपनी निचली सर्किट सीमा को छू गया। कंपनी ने अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी कार्लाइल ग्रुप और अन्य को 4,000 करोड़ रुपये की शेयर बिक्री योजना को छोड़ दिया है जिसके बाद उसके शेयरों में गिरावट आई। बीएसई में कंपनी का शेयर पांच प्रतिशत टूटकर 607.10 रुपये की अपनी निचली सर्किट सीमा पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भी कंपनी का शेयर अपने निचले सर्किट पर आ गया। एनएसई में कंपनी का शेयर 4.99 प्रतिशत टूटकर 606.75 रुपये पर आ गया।प्याज की कीमतों में स्थिरता, आलू-टमाटर की कीमतों में नरमी लाने के प्रयास जारी : सरकार

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है.नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) फ्रैंकलिन टेंपलटन ने अपनी इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत की टीम को मजबूत करते हुए अजय अर्गल और वेंकटेश संजीवी को पोर्टफोलियो प्रबंधक नियुक्त किया है। कंपनी ने सोमवार को बयान में कहा कि अर्गल और संजीवी 12 अक्टूबर से पोर्टफोलियो प्रबंधक के रूप में टीम में शामिल हो गए हैं। दोनों चेन्नई में काम संभाल रहे हैं और वे इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत टीम के प्रमुख आनंद राधाकृष्णन को रिपोर्ट करेंगे। अर्गल फ्रैंकलिन इंडिया फोकस्ड इक्विटी कोष और फ्रैंकलिन बिल्ड इंडिया फंड के पोर्टफोलियो प्रबंधक होंगे। संजीवी फ्रैंकलिन इंडिया ब्लूचिप फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेजUnicorn की रेस में ब्रिटेन, चीन, कनाडा जैसे विकसित देशों को भी पछाड़ रहा है भारत

पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.पहले चरण में 31,277 को जिलों का आवंटन हो गया है. इसमें से 15,933 टीचर सामान्‍य कैटेगरी के हैं. 8,513 अन्‍य पिछड़ा वर्ग, 6,615 अनुसूचित जाति और 215 अनुसूचित जनजाति के हैं.एनालिटिक्‍स और डेटा साइंस के क्षेत्र में प्रोफेशनल्‍स की भारी मांग, 93,500 से अधिक पद खाली

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
पोकर बंडल फ्री फायर

बिटकॉइन की कीमत अप्रैल में 65,000 डॉलर के करीब पहुंची थी जो इसका ऑल टाइम हाई था। एक बार फिर इसकी कीमत उसके करीब पहुंच गई है। पिछले शुक्रवार को इसकी कीमत करीब 6 महीने बाद पहली बार 60,000 डॉलर के पार पहुंची थी।

इलेक्ट्रॉनिक खेल app

क्या आप यह जानते हैं कि आपके कार या बाइक में डलने वाले पेट्रोल का भाव अब हवाई जहाज के ईंधन की तरह इस्तेमाल होने वाले एविएशन टर्बाइन क्यूल या एटीएफ (ATF) से ज्यादा महंगा हो गया है।

लॉटरी कैसे जीते

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का शेयर सोमवार को पांच प्रतिशत टूटकर अपनी निचली सर्किट सीमा को छू गया। कंपनी ने अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी कार्लाइल ग्रुप और अन्य को 4,000 करोड़ रुपये की शेयर बिक्री योजना को छोड़ दिया है जिसके बाद उसके शेयरों में गिरावट आई। बीएसई में कंपनी का शेयर पांच प्रतिशत टूटकर 607.10 रुपये की अपनी निचली सर्किट सीमा पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भी कंपनी का शेयर अपने निचले सर्किट पर आ गया। एनएसई में कंपनी का शेयर 4.99 प्रतिशत टूटकर 606.75 रुपये पर आ गया।

सट्टेबाजों की बाधाओं को कैसे देखें

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम मौजूदा त्योहारी सीजन के दौरान विपणन (मार्केटिंग) अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इस अभियान के तहत कंपनी अपने ग्राहकों को कैशबैक की पेशकश करेगी। इसके अलावा कंपनी यूपीआई और ‘बाय नाउ, पे लेटर’ के प्रसार के लिए भी अभियान चलाएगी। कंपनी ने भारत के सभी जिलों के ग्राहकों के लिए विपणन अभियान के तहत ‘पेटीएम कैशबैक धमाका’ की शुरुआत की है। इस अभियान के तहत कंपनी विशेष रूप से गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक जैसे राज्यों पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पेटीएम ने

गेमिंग रेटिंग एजेंसी

अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में एनर्जी एक्सचेंज में स्पॉट बिजली के भाव ₹18 प्रति यूनिट तक पहुंच गए थे और कई राज्यों की बिजली वितरण कंपनियों को बिजली खरीदने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी