वाइल्डज़ ग्यूट स्पील

वाइल्डज़ ग्यूट स्पील

time:2021-10-26 21:29:01 मारुति की कारें होंगी महंगी, अप्रैल से बढ़ जाएंगे दाम Views:4591

स्पोर्ट्स मीनिंग इन हिंदी वाइल्डज़ ग्यूट स्पील 10cric का रखरखाव चल रहा है,casumo हेल्पलाइन नंबर,लियोवेगास टर्वेटुलियाइसबोनस,lovebet खाता बनाएँ,lovebet या टिपोवानी,lovebet ज़म,क्या बैकरेट खाता खोलने में कोई मनोरंजक खेल हैं?,बैकरेट जुआ,बैकारेट बनाम वॉटरफोर्ड,सट्टा - मतलब हिंदी में,कैसीनो बोर्ड खेल,कैसीनो विला इगतपुरी,क्लासिक रम्मी स्वागत बोनस कोड,क्रिकेट लॉन ओखम,ई-शतरंज वेबसाइट,एफ क्रिकेट लाइव स्कोर,फ़ुटबॉल ऑनलाइन सट्टेबाजी साइट,उत्पत्ति कैसीनो स्लॉट,बैकरेट को कैसे हराया जाए,आईपीएल ऑरेंज कैप लिस्ट,जैकपॉट बुधवार अमेज़न,लाइव लाठी बनाम कंप्यूटर,लॉटरी 2.7.2021,लॉटरी सर्वेक्षण औ,एनबीए लेकर्स बनाम निक्स,ऑनलाइन कैसीनो युकोन गोल्ड,ऑनलाइन पोकर लाइव,परिमच सुरक्षित है,पोकर भारत में कानूनी है,रियल मनी बोर्ड गेम प्लेटफॉर्म जो बेहतर है,नियम अंगूठा है,रमी वेरिएंट ज़ूम,स्लॉट मशीन लीवर,खेल 80 तीरंदाजी,स्पोर्ट्सबुक केपीआईसी,मेरे पास टेक्सास होल्डम,टीआर कैसीनो360,सबा स्पोर्ट्स में क्या खराबी है?,वाई क्रिकेट स्कोर,एक अच्छी प्रतिष्ठा के साथ लाइव वीडियो बैकारेट वेबसाइट,क्रिकेट game download,गोवा छोटा,ढोलना स्टेटस,फोर्टुना सोना,बेटा सीरियल,लॉटरी बाजार फास्ट रिजल्ट, .मारुति की कारें होंगी महंगी, अप्रैल से बढ़ जाएंगे दाम

इससे पहले मारुति सुजुकी ने इस साल 18 जनवरी को लागत में वृद्धि का हवाला देते हुए चुनिंदा मॉडल पर दाम 34,000 रुपये तक बढ़ाने की घोषणा की थी.
नई दिल्ली : कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने अगले महीने से अपने सभी मॉडल के दाम बढ़ाने का एलान किया है. उसने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.

एमएसआई के एग्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर (सेल्स एंड मार्केटिंग) शशांक श्रीवास्तव ने कहा, ''उत्सर्जन मानदंडों को लेकर नियम पिछले साल अप्रैल से अमल में हैं. इसको लेकर कई सारी लागतें जुड़ी हैं. हमने कीकमत बढ़ाने पर विचार किया था. लेकिन, पिछले साल बाजार की स्थिति अच्छी नहीं थी. लिहाजा, हम उस समय दाम नहीं बढ़ा सके.''

इसे भी पढ़ें : एसबीआई के योनो एप से खरीदारी करने पर मिल रहा है 50% तक डिस्‍काउंट

उन्होंने कहा, ''लेकिन अब कच्चे माल खासकर स्टील, प्लास्टिक और दुर्लभ धातुओं की लागत काफी बढ़ गई है.''

श्रीवास्तव ने कहा, ''हम महामारी के बाद मांग को गति देने की कोशिश कर रहे थे और यही कारण था कि हमने जनवरी में कीमत वृद्धि कम की. उस समय यह भी सोच थी कि कच्चे माल की लागत ऊंची नहीं रहेगी और इसमें गिरावट आएगी. लेकिन, अब जो अनुमान है, उसके अनुसार कीमत अगली कुछ तिमाहियों तक ऊंची बनी रहेगी. इसलिए न चाहते हुए भी हमने कीमत बढ़ाने का फैसला किया.''

इसे भी पढ़ें : टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

उन्होंने कहा कि दाम में वृद्धि मॉडल पर निर्भर करेगी. इससे पहले, मारुति सुजुकी ने इस साल 18 जनवरी को लागत में वृद्धि का हवाला देते हुए चुनिंदा मॉडल पर दाम 34,000 रुपये तक बढ़ाने की घोषणा की थी. मारुति सुजुकी देश में बड़ी रेंज में कारों की बिक्री करती है. इनमें छोटी कार अल्‍टो से लेकर प्रीमियम क्रॉसओवर एस-क्रॉस तक शामिल हैं.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

मारुति सुजुकीकच्‍चा मालकीमत में बढ़ोतरीएमएसआईकार के दाम

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

साल 2020 पूरी तरह के कोरोना वायरस महामारी के नाम रहा. इसकी वजह से न सिर्फ दुनिया में आर्थिक मंदी का खतरा बढ़ गया, मगर कई इंडस्ट्रीज में सुस्ती का माहौल भी छा गया. इसमें ऑटो सेक्टर भी अछूता नहीं रहा.हालांकि, इस साल कई दिग्गज कार कंपनियों ने एक-के-बाद-एक बेहतरीन और शानदार कार और बाइक्स मार्केट में उतारी. सुपरफास्ट इंजन, आकर्षक लुक्स और महंगे दाम वाली कई कार और बाइक ने बाजार को अपना दिवाना बनाया. जानिए इस साल सड़कों पर उतरी कौनसे लग्जरी वाहन:जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है.कोविड-19 के बीच क्‍या ट्रैवल करने निकले हैं? ये 8 गैजेट्स रखें साथ

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.रेलवे में 1.40 लाख पदों पर भर्ती के लिए 15 दिसंबर से शुरू होगी परीक्षा

क्या कभी आपने सोचा है कि वैलेंटाइन डे पर पुरुष ज्यादा खर्च करते हैं या महिलाएं ? इस सवाल को लेकर हम आपकी उलझन खत्म कर देते हैं. पुरुष वैलेंटाइन डे सेलिब्रेट करने के लिए औसतन 4000 रुपये खर्च करते हैं. वहीं, महिलाएं इस मौके पर 2000 रुपये खर्च करती हैं.फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है.सितंबर में नियुक्ति गतिविधियों में 24% की बढ़ोतरी : रिपोर्ट

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
बैकरेट सटीक खेल

2020 के पहले छह महीनों में केपजेमिनी ने 9,500 लोगों की भर्ती की है. सेकेंड हाफ में उसकी 13,500 लोगों को रिक्रूट करने की योजना है.

टी-फुटबॉल टीवी

कई ग्राहक मोरेटोरियम और उससे पड़ने वाले असर को नहीं समझते हैं. इसे देखते हुए कलेक्‍शन में बाधा आई है.

टीआर लॉटरी चार्ट

सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.

बकारत कतर

साल 2020 पूरी तरह के कोरोना वायरस महामारी के नाम रहा. इसकी वजह से न सिर्फ दुनिया में आर्थिक मंदी का खतरा बढ़ गया, मगर कई इंडस्ट्रीज में सुस्ती का माहौल भी छा गया. इसमें ऑटो सेक्टर भी अछूता नहीं रहा.हालांकि, इस साल कई दिग्गज कार कंपनियों ने एक-के-बाद-एक बेहतरीन और शानदार कार और बाइक्स मार्केट में उतारी. सुपरफास्ट इंजन, आकर्षक लुक्स और महंगे दाम वाली कई कार और बाइक ने बाजार को अपना दिवाना बनाया. जानिए इस साल सड़कों पर उतरी कौनसे लग्जरी वाहन:

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप

कंपनी ने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी