• micro-blog
  • WechatWechat QR code

गुआनडोंग प्रांतिय लोक्स सरकार का होम पृष्ठ  >  News trends  >  Guangdong highlights

लाइव लाठी विकास

स्रोत: Nanfang Daily Online Edition     time: 2021-10-18 15:42:41

बैकारेट के लिए कौन सा मंच सबसे अच्छा है लाइव लाठी विकास 188बेट या शर्त365,casumo येलिकेरोइन,lovebet 2 घंटे की निकासी,lovebet फुटबॉल प्रायोजक,lovebet रेफरल कोड,lovebetा युतीश सरलारी,बैकारेट 3 पीस सॉस पैन सेट,बैकारेट ली,बेल्टवे 8 दुर्घटना आज,भ फुटबॉल ट्विटर,गोवा में बिक्री के लिए कैसीनो,च स्पोर्ट्स यूट्यूब,क्रिकेट ३डी,क्रिकेट स्कोर भारत,एस्पोर्ट्स लोगो,फ़ुटबॉल 2021 का फ़ाइनल मैच,फुटबॉल वेब गेमतों,गिनी खेल जैकपॉट डु पत्रिकाएं,बैकरेट ऑनलाइन कैसे खेलें,क्या ऑनलाइन जुए के लिए एजेंट के रूप में कार्य करना कानून के विरुद्ध है?,जंगल रम्मी सपोर्ट,लाइव कैसीनो लास वेगास,लॉटरी धनकेसरी,लूडो लॉगिन,ओडिबेट्स लाइफस्कोर,ऑनलाइन खेल अंग्रेजी,ऑनलाइन रियल मनी एंटरटेनमेंट,परिमच योरूमलार,पोकर किउ,आरएनजी प्रमाणित खेल - आईटेक लैब्स,रम्मी 13 कार्ड नियम,रम्मीकल्चर सुरक्षित है,स्लॉट मशीन ज़ोरो,खेल फैशन के जूते,स्टैंड-अलोन आर्केड गेमिंग मशीन,सबसे अच्छी बैकारेट वेबसाइट जो जल्दी से कैश हो जाती है,यूईएफए चैंपियंस लीग लाइव वीडियो,कौन सा गेमिंग नेटवर्क अच्छा है,21 बजे topic,ऑनलाइन पैसे बनाएं in english,क्रिकेट का समाचार,गोवा लाटरी,तीन पत्ती रियल गेम डाउनलोड,बकरी धारा,बैकारेट पर बेट लगाने का सबसे अच्छा तरीका क्या है? मैं कहां पता लगा सकता हूं?,स्टेटस उर्दू में, ,क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

  


  

क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

  क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

हाल में कई फंड ऑफ फंड्स (एफओएफ) लॉन्‍च हुए हैं. इस तरह निवेशकों के पास चुनने के लिए विकल्पों की कमी नहीं है.
हाल में कई फंड ऑफ फंड्स (एफओएफ) लॉन्‍च हुए हैं. इस तरह निवेशकों के पास चुनने के लिए विकल्पों की कमी नहीं है. हालांकि, एक बात हर निवेशक को ध्‍यान रखने की जरूरत है. चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है. इसका मतलब है कि निवेशकों को ओरिजनल स्‍कीम के साथ ही एफओएफ के एक्सपेंस रेशियो का भार भी उठाना पड़ सकता है.

इस बात को उदाहरण से समझते हैं. मान लेते कि निवेशक हाल में लॉन्‍च निप्‍पॉन इंडिया एसेट अलोकेट एफओएफ में निवेश करते हैं. इस मामले में उन्‍हें एफओएफ का एक्‍सपेंस रेशियो 0.19 फीसदी उठाना पड़ेगा. साथ ही वह एफओएफ जिन स्‍कीमों में निवेश करेगा, उनके वेटेड एवरेज एक्‍सपेंस रेशियो का भार भी निवेशकों पर आएगा. इस मामले में तीन स्‍कीमें हैं, निप्‍पॉन इंडिया स्‍मॉलकैप फंड (1.06%), निप्पॉन इंडिया ग्रोथ फंड (1.26%) और निप्पॉन इंडिया लॉर्जकैप फंड (1.18%).

आपको एफओएफ रूट का इस्‍तेमाल सिर्फ तभी करना चाहिए अगर अतिरिक्‍त कॉस्‍ट उचित है. आइए, जानते हैं कि इस फैसले तक पहुंचने में आपको किन बातों का ध्‍यान रखना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

आपके रिटर्न प्रोफाइल में फिट हो स्‍कीम
प्राइमरी स्‍कीम यानी घरेलू म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम का उपलब्‍ध न होना एफओएफ रूट लेने का एक कारण हो सकता है. इससे भी अधिक महत्वपूर्ण यह है कि इस नई स्‍कीम को आपके पोर्टफोलियो प्रोफाइल में फिट होना चाहिए.

क्रेडेरे वेल्‍थ पार्टनर्स में प्रोडक्‍ट और रिसर्च के हेड अरुण गोपालन कहते हैं, ''निवेशकों को जिस स्‍कीम में निवेश किया जा रहा है, उसे देखना चाहिए. साथ ही यह भी पता लगाना चाहिए कि उससे क्‍या मकसद हल हो रहा है.''

एलआरएस के जरिये सीधे निवेश करने में क्‍या दिक्‍कत है?
आप पूछ सकते हैं कि लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्‍कीम (एलआरएस) का इस्तेमाल करते हुए सीधे विदेशी शेयरों में क्‍यों निवेश नहीं किया जा सकता है. यह बिल्‍कुल सही है कि आप सीधे निवेश कर सकते हैं. लेकिन, उसके लिए आपको काफी विशेषज्ञता की जरूरत होगी. इस बात को ध्‍यान रखना चाहिए कि भारतीय फंड हाउस सीधे इंटरनेशनल सेगमेंट में सिर्फ इसलिए नहीं हाथ आजमा रहे हैं क्योंकि उनके पास यहां निवेश करने की कुशलता नहीं है.

इसे भी पढ़ें : मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

आप इंटरनेशनल फंडों या एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड में निवेश कर काफी हद तक विशेषज्ञता के मसले को हल कर सकते हैं. हालांकि, यह एक और परेशानी खड़ी करेगा. वह है एलआरएस व्यवस्था के तहत रिपोर्ट‍िंग की.

हाल में लॉन्‍च हुए एफओएफ
master

जहां एफओएफ रूट का इस्‍तेमाल ग्‍लोबल डायवर्सिफिकेशन के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है. वहीं, अच्‍छा होगा कि घरेलू थीम के लिए इससे बचा जाए.

घरेलू एफओएफ की उपयोगिता कम
बात जब घरेलू परिदृश्य की आती है तो एफओएफ की उपयोगिता घट जाती है. हाल में लॉन्‍च कई एफओएफ अपने ही ईटीएफ में पैसा लगाएंगे. इस मामले में वैल्यू एडिशन कम है. कारण है कि निवेशक सेकेंडरी मार्केट से प्राइमरी ईटीएफ सीधे खरीद सकते हैं. हालांकि, यह निवेशकों के एक धड़े के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

प्‍लान अहेड वेल्थ एडवाइजर्स के सीईओ विशाल धवन कहते हैं कि जिन म्‍यूचुअल फंड निवेशकों के पास डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट नहीं है, उनके लिए ईटीएफ में एफओएफ निवेश उपयोगी होगा.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

फंड ऑफ फंड्सएफओएफम्‍यूचुअल फंडरिटर्न प्रोफाइलएक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS
Fintech

Inside Amrish Rau’s experiments at Pine Labs: card swipe as a gateway to everything that’s SaaS

10 mins read
Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.
Auto

Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.

12 mins read

Tata Punch Launched: टाटा ने लॉन्च की 'पंच', क्या बदल पाएगी भारत में माइक्रो SUV सेगमेंट की तस्वीर

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम मौजूदा त्योहारी सीजन के दौरान विपणन (मार्केटिंग) अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इस अभियान के तहत कंपनी अपने ग्राहकों को कैशबैक की पेशकश करेगी। इसके अलावा कंपनी यूपीआई और ‘बाय नाउ, पे लेटर’ के प्रसार के लिए भी अभियान चलाएगी। कंपनी ने भारत के सभी जिलों के ग्राहकों के लिए विपणन अभियान के तहत ‘पेटीएम कैशबैक धमाका’ की शुरुआत की है। इस अभियान के तहत कंपनी विशेष रूप से गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक जैसे राज्यों पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पेटीएम नेबेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.चीन की अर्थव्यवस्था में सुस्ती, सितंबर तिमाही में वृद्धि दर घटकर 4.9 प्रतिशत पर

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.यूनिकॉर्न का मतलब ऐसे स्टार्टअप से है जिसका वैल्यूएशन कम से कम $एक अरब हो। चालू कैलेंडर वर्ष की तीसरी तिमाही में भारत ने 10 यूनिकॉर्न जोड़े हैं।त्योहारी सीजन के दौरान विपणन अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी पेटीएम

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा



Relevant reports:बैकरेट फ्री क्रैक प्लग-इन
Relevant reports:क्लासिक रम्मी कैश गेम डाउनलोड
Relevant reports:जैकपॉट बिंगो गेम्स
Relevant reports:टा रम्मी
Relevant reports:बैकरेट जुआ
Relevant reports:सन सिटी ऑनलाइन
Relevant reports:लाइव लाठी bet365
Relevant reports:क्रिकेट बज्ज
Relevant reports:पॉइंट्स रम्मी कैसे खेले
Relevant reports:बकरा और बंदर का खेल
Relevant reports:पूल रम्मी सत्यापन
Relevant reports:शीर्ष दस कैसीनो नकद नेटवर्क
Relevant reports:बैकारेट धोखाधड़ी को कैसे रोकें
Relevant reports:लूडो यार्स गेम
Relevant reports:एक पत्ती
Relevant reports:बैकारेट क्रैकिंग इंस्ट्रूमेंट
Relevant reports:स्पोर्ट्सबुक लोगो
Relevant reports:lovebet सिस्तेमा 6/8
Relevant reports:lovebet प्रोमो कोड हैक
Relevant reports:भारत के खेल
Relevant reports:किस वेबसाइट का लाइव कैश रूले सबसे अच्छा है
Relevant reports:ऑनलाइन कैसीनो डेनमार्क
Relevant reports:ufa188bet
Relevant reports:बेटा बेटी पर शायरी
Relevant reports:लवबीटा डाउनलोड
Relevant reports:उच्च 5 वास्तविक स्लॉट कैसीनो
Relevant reports:क्रिकेट एक बग

【font:large in Small
प्रतिलिपि अधिकार: दक्षिण न्यूज नेटवर्कगुआनडोंग आईसीपी तैयार 05070829 website identification code 4400000131
Sponsor: नान्फांग न्यूज़र नेटवर्क co sponsor: Guangdong Provincial Economic and Information Technology Commission contractor: Nanfang news network
1024 is recommended × Browser with 768 resolution above IE7.0